More

    रोहतास: संक्रमित मरीजों की संख्या हुई 16, संक्रमण के बढ़ते प्रसार को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क

    रोहतास पत्रिका/सासाराम: जिले में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। ऐसे में जिला प्रशासन एवं जिला स्वास्थ समिति लोगों के स्वास्थ्य के प्रति पूरी तरह से सतर्कता बरतना शुरू कर दिया है। सासाराम सदर अस्पताल के अलावा डिहरी एवं विक्रमगंज अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन गैस पाइप लाइन से लैस बेड को भी तैयार कर लिया गया है सदर अस्पताल स्थित आइसोलेशन वार्ड को भी रेडी मोड में रखा गया है।

    जिला प्रशासन एवं जिला स्वास्थ समिति लोगों को ज्यादा से ज्यादा एहतियात बरतते हुए कोरोना गाईड लाइन का पालन करने के लिए अपील कर रही है। संक्रमण को लेकर जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य से जुड़े जिला स्तरीय नोडल पदाधिकारी, सिविल सर्जन, डीआईओ, डीपीएम सहित सभी बीडीओ सीओ, एमओ, आईसी के साथ कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के प्रति सतर्कता जागरूकता एवं तैयारी को लेकर एक आवश्यक बैठक करके संक्रमण प्रसार को रोकने के साथ-साथ टीकाकरण में तेजी लाने के लिए भी दिशा निर्देश दिए हैं।

    जिलाधिकारी ने दूसरे डोज को अगले हफ्ते तक पूरा करने के लिए निर्देश दे दिया है। वही 15 से 18 वर्ष के बीच की आयु वाले बच्चे को भी अगले 19 जनवरी तक प्रथम डोज पूर्ण करने के लिए आदेश दिया है। वही पूर्व निर्धारित सेंटर के अलावे सभी सरकारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भी सेंटर बनाने के लिए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है। कोविड-19 जांच को लेकर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि 5000 की जगह पर अब प्रतिदिन 7000 के आसपास जांच किया जाए।

    खबर/विज्ञापन के लिए संपर्क करें:7367872336

    जिले में कुल 16 संक्रमित मरीज

    बिहार में अन्य जिलों की भांति रोहतास जिले में भी संक्रमित मरीज मिलने का सिलसिला जारी हो चुका है। पिछले 24 घंटे में आई रिपोर्ट के अनुसार तीन नए संक्रमित मरीज पाए गए हैं। रोहतास जिले में पिछले 24 घंटों में 4861 लोगों का कोरोना जांच किया गया था इस दौरान तीन लोग संक्रमित पाए गए। इस तरह अब रोहतास जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है जिसमें 14 रोहतास जिले के तथा दो अन्य जिले के शामिल है।

    संक्रमण को लेकर बरते सावधानी: डॉ के एन तिवारी

    रोहतास जिले में कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रभारी सिविल सर्जन डॉ केएन तिवारी ने लोगों से सावधानी बरतने के लिए अपील किया है। उन्होंने बताया कि जिला स्वास्थ समिति लोगों के स्वास्थ्य के प्रति पूरी तरह से सजग है और हर कोशिश है कि संक्रमण प्रसार को रोका जा सके। संक्रमण प्रसार को रोकने में आम लोगों की भूमिका अहम हो जाती है। ऐसे में आपदा की घड़ी में सबका सहयोग आवश्यक है। डॉ तिवारी ने बताया कि जिले में 16 संक्रमित मरीज पाए गए हैं जिन्हें होम आइसोलेट किया गया है। साथ ही साथ जिनका आरटीपीसीर के माध्यम से पॉजिटिव पाया गया था उनका सैंपल पुनः जांच के लिए पटना भेज दिया गया है। फिलहाल अभी तक जिले में ओमिक्रोन का असर नहीं देखा गया है।

    खबर/विज्ञापन के लिए संपर्क करें:7367872336

    Latest articles

    Related articles