रोहतास: पूर्व पंचायत समिति सदस्य देसी कट्टा और दो जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार

लेखक : Sanjeev Kumar

Apr 28, 2022,

9:19 PM

Former BDC Arrested

रोहतास पत्रिका/सासाराम: काराकाट थाना क्षेत्र के रघुनाथपुर से गुरुवार को पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार व्यक्ति मोथा पंचायत के पूर्व पंचायत समिति सदस्य बताया जाता है। इसके पास से एक देशी कट्टा, दो जिंदा कारतूस व दो खोखा भी बरामद किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार काराकाट थाना को सूचना मिली की एक व्यक्ति अपने छत पर चढ़ कर हथियार से फायरिंग कर रहा है।

सूचना को गंभीरता से लेते हुए रोहतास पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने काराकाट थानाध्यक्ष के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन करते हुए जांच का आदेश दिए। थानाध्यक्ष दिवाकर प्रसाद गठित टीम के साथ रघुनाथपुर गांव पहुंचे, जहां संदिग्ध की पहचान करते हुए गिरफ़्तारी हेतु प्रयास करने लगे। इसी क्रम में पुलिस बल को देख एक व्यक्ति भागने लगा लेकिन पुलिस के तत्परता के कारण वह असफल रहा और कुछ ही दूरी पर पकड़ा गया।

थानाध्यक्ष दिवाकर प्रसाद ने बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति रघुनाथपुर निवासी श्याम बिहारी राम का पुत्र जयनाथ राम है। यह मोथा पंचायत के पंचायत समिति सदस्य भी रह चुका है। इसके पास से एक देसी कट्टा, दो जिंदा कारतूस सहित दो खोखा भी बरामद किया गया है। कड़ी पूछताछ के दौरान पता चला कि इसके द्वारा अपने ही घर के छत से उक्त देसी कट्टे से दो राउंड फायरिंग भी किया गया है। इस संबंध में धारा 25(1-बी) ए/26/27 आर्म्स एक्ट के तहत कांड संख्या 69/22 दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

ताज़ा खबरें

अगली खबर

मोबाइल नहीं देने पर सीने में दाग दी गोली, युवक की हालत गंभीर

लेखक : Sanjeev Kumar

May 22, 2022,

10:55 AM

इन दिनों बिहार में मोबाइल चोरी, छिनतई अब आम बात हो गई है. हर जिलों से प्रतिदिन सैकड़ों इस तरह के केस आते हैं. क्राइम पर कोई रोक नहीं है.अपराधियों के भीतर कानून का भय खत्म होते जा रहा है. प्रदेश के भोजपुर जिले से ऐसी ही एक घटना सामने आई है. जहां एक युवक से जबरन मोबाइल छिनने की कोशिश की गई. जिले के कोईलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा मोड़ स्थित आलू कोल्ड स्टोर के समीप युवक से अपराधी मोबाइल छिन रहे थे. युवक ने जमकर विरोध किया. गिड़गिड़ाता रहा है, कहा कि हम गरीब है हमारे पास मोबाइल नहीं है लेकिन बदमाशों ने एक नहीं सुनी. मोबाइल नहीं देनेे पर युवक के ऊपर गोली चला दी. बदमाश एक अपाची बाइक से आए थे. लड़का पुरी तरह से घायल होकर उसी स्थान पर बेसुध हो गया. परिजनों को सूचना मिलते ही आनन-फानन में आरा शहर के बाबू बाजार स्थित निजी अस्पताल लाया गया. जहां पर युवक इलाज चल रहा है. डॉक्टर ने बताया कि गोली सीने में लगी है, ब्लड काफी बह चुका है. उसके सीने में टेस्ट ट्यूब लगाया जा रहा है. दो यूनिट ब्लड चढ़ाया जाएगा. डॉ.विकास सिंह ने आगे बताया कि स्थिति अभी नाजुक बनी है, युवक को कुछ दिनों तक ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा.

SP ने कहा कि बदमाशों को जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा

घटना की सूचना मिलते ही SP सीधे अस्पताल पहुंच कर घायल से मिले. पुरी घटना की जानकारी लेते उन्होंने बताया कि घायल युवक कोइलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा गांव निवासी लाल मोहन पांडेय का पुत्र 19 वर्षीय अमन पांडे है. अमन दुध प्लांट में पैकिंग का काम करता है. हर रोज की तरह वो काम पर जा रहा था इसी दौरान घटना हो गई. अधीक्षक ने कहा कि हम इसे लुट-पाट की एंगल से ही जांच कर रहे हैं. उस जगह पर जो भी घटनाएं घटी है उसे लेकर जांच करेंगे ताकि अपराधियों को जल्द से जल्द से गिरफ्तार कर सकें. SP ने बताया कि हम लोगों से कोआर्डिनेशन बनाए ऱखे हुए जिससे लॉ एंड आर्डर बनी रहे. वही थाना इंचार्ज प्रवीण कुमार घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गए हैं.

 

अगली खबर

Aadhar Card नहीं दिखाने पर BJP नेता ने एक व्यक्ति की ली जान? सोशल साइट पर वीडियो वायरल

लेखक : Sanjeev Kumar

May 21, 2022,

4:19 PM

मध्य प्रदेश: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें एक युवक से आधार कार्ड नहीं दिखाने पर बेरहमी से पीटा जा रहा है. ये वीडियो मध्यप्रदेश के नीमच जिले की बताई जा रही है हालांकि इस वीडियो की पुष्टि रोहतास पत्रिका नही कर रहा है. वायरल वीडियो में बीजेपी पार्षद के पति दिनेश कुशवाहा को कथित तौर पर जैन की पिटाई करते हुए देखा जा रहा है और उसे आधार कार्ड मांग रहे हैं. बीजेपी नेता युवक से पुछ रहे हैं कि क्या तुम मुस्लिम हो?

वायरल वीडियो पर पुलिस ने क्या कहा?

सोशल मीडिया पर वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में जिस व्यक्ति से आधार कार्ड मांगा जा रहा है. उसका नाम रतलाम के सरसी गांव निवासी 60 वर्षीय भंवरलाल जैन बताया जा रहा है. वहीं मानसा से भंवरलाल मृत स्थित में पाए गए. पुलिस ने शनिवार को सूचना दिया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने शनिवार को IPC की धारा 304 (लापरवाही से मौत) और 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की. मनासा थाना प्रभारी केएल डांगी ने बताया कि भंवरलाल जैन 18 मई को अपने परिवार के साथ चित्तौड़गढ़ गया था. उसके बाद में वह लापता हो गया. शुक्रवार को नीमच जिले के मनासा में उनका शव मिला. उन्होंने आगे कहा कि हम वीडियो की जांच कर रहे हैं. मामले में आरोपी के साथ वीडियो बनाने वाले के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस मामले के बाद दिनेश कुशवाहा फरार हो गए हैं.

स्थानीय नेताओं ने बोला हमला

Congress के नेताओं ने BJP सरकार पर कई सवाल खड़े किए हैं. विधायक जीतू पटवारी ने कहा, ‘राज्य में कानून-व्यवस्था नहीं है और सिर्फ आधार कार्ड नहीं दिखाने पर एक व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डाला गया. मुस्लिम, दलित और आदिवासी के बाद जैन पर हमले हुए. प्रदेश में कोई सुरक्षित नहीं है. इस मामले को लेकर गृह मंत्री अमित शाह जी को कुछ कहना चाहिए. वही BJP के प्रवक्ता हितेश वाजपेयी ने कहा, ‘यह बेहद दुखद घटना है, मामले की निष्पक्ष जांच होगी.

अगली खबर

दो बच्चे के पिता ने 7 साल की बच्ची के साथ किया रेप, बच्ची की हालत नाजुक

लेखक : Sanjeev Kumar

May 20, 2022,

2:51 PM

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है जहां पर एक युवक ने 7 साल की बच्ची के साथ रेप किया है. युवक का नाम विकास कुमार है जो कि मिठनपुरा का रहने वाला है. आरोपी की गिरफ्तारी हो गई है. आरोप स्वीकार्य करते हुए कहा कि मैं नशे के हालत में था इसलिए ये घटना हो गया. मैं होश में नहीं था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. महिला थाना की पुलिसकर्मी स्नेही ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी उसके घर से हो गई है. आरोपी दो बच्चे का पिता है. उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. उसे जेल भेजा जा रहा है.

तीन दिन पूर्व की घटना

आरोपी तीन दिन पहले एक शादी समारोह में गया था. जिस बच्ची के साथ रेप हुआ है उसके मौसा के साथ शादी में शामिल हुआ. शादी के दौरान युवक ने बच्ची को कोल्ड ड्रिंक पिलाने का झांसा देकर उसे बाइक पर बैठाकर घर के बाहर सुनसान झाड़ियों में ले गया और बच्ची के साथ रेप किया. बच्ची ने चिल्लाने की कोशिश की तो उसकी आवाज दबाकर उसके साथ जबरन रेप करते रहा. उसके बाद बच्ची को वही छोड़कर भाग गया. पीड़ित बेहोशी की हालात में पाई गई जहां पर दरिंदा ने रेप किया था. बच्ची अस्पताल में भर्ती है परिजनों ने बताया कि प्राइवेट पार्ट में काफी ब्लीडिंग हो गई है. आनन-फानन में पहले PHC में प्राथमिक इलाज करवाया गया है उसके बाद डॉक्टर ने SKMCH रेफर कर दिया. फिलहाल बच्ची SKMCH में भर्ती है. जहां पर उसका इलाज चल रहा है, स्थित काफी नाजुक बताई जा रही है. वहीं स्थानीय लोगों इसे लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की है. लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि क्षेत्र में क्राइम की घटना में काफी वृद्धि हो गई है. प्रशासन घटना होने का इंतजार करती है.

अगली खबर

रोहतास: अगरेर खुर्द दलित हत्याकांड के मुख्य आरोपी गिरफ्तार, 21 दिन बाद पुलिस को मिली सफलता

लेखक : Sanjeev Kumar

Apr 11, 2022,

10:48 PM

Agar Khurd Dalit Murder Case

रोहतास पत्रिका/सूर्यपुरा: सूर्यपुरा थाना अंतर्गत अगरेर खुर्द गांव में 20 मार्च को आपसी विवाद में एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद मामले के आरोपी फरार चल रहे थे। अब हत्याकाण्ड के 21 दिन बाद सोमवार को पुलिस को मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। मिली जानकारी के अनुसार अभियुक्त ब्रिज भूषण पांडे को पुलिस ने बिक्रमगंज थाना क्षेत्र से जांच के लिए गठित एसआईटी ने गिरफ्तार किया है।

घटना में प्रयुक्त हथियार अभी भी पुलिस के पहुँच से बाहर, नहीं हुआ आर्म्स लाइसेंस रद्द

घटना के बाद मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने बताया था कि दलितों पर गोलीबारी करने में प्रयुक्त हथियार लाइसेंसी है या अवैध इसकी जांच की जा रही है। जांच में पता चला कि जिस हथियार से गोलीबारी हुई थी वह हथियार लाइसेंसी और उसकी लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा की गई है। जब इस संबंध में बिक्रमगंज एसडीपीओ से बात किया गया तो पता चला की हथियार का लाइसेंस घटना के 21 दिन बीत जाने के बाद भी रद्द नहीं किया है।

मृतक की पत्नी ने कराई थी प्राथमिकी दर्ज

मृतक राजदेव पासवान की पत्नी इंदु देवी ने स्थानीय सूर्यपुरा थाना में गांव के ही 8 दबंगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। सूर्यपुरा थानाध्यक्ष सुसंत कुमार ने धारा 147/148/149/341/323/447/307/302/504, 27 आर्म्स एक्ट एवं एससी/एसटी एक्ट के तहत कांड संख्या 32/22 दर्ज किया था। इस कांड में कुल 8 लोगों को नामजद किया गया था जिसमें अगरेर खुर्द निवासी भैया राम पांडे के पुत्र बृज भूषण पांडे, चंद्र भूषण पांडे एवं राज भूषण पांडे, स्व जय गोविंद पांडे के पुत्र भैया राम पांडे, बृज भूषण पांडे का पुत्र विकास पांडे, श्रीकांत दुबे का पुत्र सौरभ दुबे उर्फ किस्तु दुबे, रंगनाथ पांडे का पुत्र अभय पांडे एवं कमलेश पांडे का पुत्र संजीव पांडे शामिल है।

दिन-दहाड़े दो लोगों को मारी गई थी गोली, एक की हुई थी मौत

सूर्यपुरा थाना क्षेत्र के अगरेर खुर्द गांव में उक्त विवाद में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। एक अन्य व्यक्ति को भी गोली लगी थी, लेकिन उसकी जान बच गई थी। ग्रामीण बताते है कि आपसी विवाद में झगड़ा बढ़ गया और कुछ लोगों द्वारा दिनदहाड़े फायरिंग की जाने लगी थी। जिसमें राजदेव पासवान एवं संतोष पासवान को गोली लग गई। राजदेव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि संतोष को बिक्रमगंज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

3 दिनों से जारी तनाव ने लिया खूनी रूप

स्थानीय लोग बताते है कि 17 मार्च को अगरेर खुर्द गांव में नाली के ऊपर रखा पत्थर का स्लैब नाली में गिर गया था। उस स्लैब को निकाल कर हटाने को लेकर विवाद हो गया। तब गांव के दबंगों ने नींबू राम की पिटाई कर दी। उसी विवाद में 20 मार्च को भी दोनों पक्षों में नोंक-झोक हुआ। इसके बाद गांव के ही दबंगों के पक्ष से ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी जिसमें राजदेव पासवान और संतोष पासवान को गोली लग गई थी।

अगली खबर

“नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ी नज़दीकियां तो CBI ने लालू यादव के आवास पर मार दी रेड” – RJD विधायक मुकेश रौशन

लेखक : Sanjeev Kumar

May 20, 2022,

2:13 PM

बिहार के पूर्व मुखिया लालू प्रसाद के घर तड़के सुबह CBI की टीम ने रेड मारी है. पटना और दिल्ली समेत 17 ठिकानों पर छापेमारी जारी है. टीम ने बताया कि रेलवे भर्ती बोर्ड में हुई गड़बड़ी को लेकर कार्रवाई हुई है. पटना, दिल्ली और गोपालगंज समेत कई जगहों पर रेड जारी है. घर के सदस्यों को अलग-अलग कमरे में बैठाकर पूछताछ की जा रही है. वहीं दिल्ली में मिसा भारती के घर पर CBI के बड़े अधिकारी पहुंचे है.

तेज प्रताप यादव को बैठाया पेड़ के नीचे

CBI की टीम पहुंचते ही RJD के कार्यकर्ताओं ने घर के बाहर प्रदर्शन करना शुरु कर दिया है. धरने पर बैठे कई RJD के नेताओं ने कहा कि ये बदले की राजनीति है. सरकार हमारे नेता लालू यादव जी को परेशान करने में लगी है लेकिन हम चुप बैठने वाले नहीं है. वहीं टीम ने तेज प्रताप को पेड़ के नीचे बैठा दिया था. इसके बाद तेज प्रताप ने बिना कुछ कहे चुपचाप पेड़ के नीचे बैठे रहें. 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर CBI की 8 सदस्यीय अफसरों में महिला कर्मचारी भी छानबीन के लिए पहुंची है. आवास में किसी को अंदर बाहर जाने पर रोक लगा दिया गया है. टीम सभी दस्तावेजों को खंगाल रही है. वहीं राबड़ी देवी से पूछताछ करने की खबरें आ रही हैं.

पुरा मामला क्या है?

आपको बता दे कि 2004 से 2009 के बीच लालू प्रसाद यादव रेलमंत्री थे इसी बीच रेलमंत्री ने नौकरी देने के बदले जमीन और कई प्लॉट लिए. इसी आरोप को लेकर एक नया केस दर्ज हुआ है, जिसे लेकर CBI की टीम जांच में लगी है. ये केस लालू यादव और उनकी बेटी मिसा भारती पर हुई है. इधर, RJD के विधायक मुकेश रौशन ने कहा कि RJD और JDU के नजदीकियों से BJP परेशान हो गई है इसलिए छापेमारी करवा रही हैं. इस समय लालू यादव की तबीयत खराब है, उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है और तेजस्वी यादव भी शहर से बाहर है.ऐसे समय में रेड मारना उचित नहीं है.

अगली खबर

विशेष: राजनीति के ‘चौधरी’ कहे जाने वाले नेता की जयंती से जुड़ा है ‘किसान दिवस’ का इतिहास, जानिए सबकुछ

लेखक : Sanjeev Kumar

Nov 25, 2021,

5:41 PM

Chaudhary charan singh

रोहतास पत्रिका/नई दिल्ली:

हर साल 23 दिसंबर को देश में ‘राष्ट्रीय किसान दिवस’ मनाया जाता है, लेकिन इस बार ये किसान आंदोलन की वजह से मुख्य केंद्र बिंदु बना हुआ है। बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर पूरे देश में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। एक कृषि प्रधान देश होने के नाते भारत की बहुसंख्यक आबादी खेती से जुड़ी है। चलिए इस बहुसंख्यक आबादी से जुड़े ‘किसान दिवस’ के इतिहास पर नजर डालते हैं और आज के परिपेक्ष्य में समझने की कोशिश करते हैं।

किसान दिवस मनाए जाने का प्रमुख कारण देश में किसानों की प्राथमिकता को महत्व देना एवं उनके हित में चलाई गई योजनाओं के बारे में किसानों को परिचित कराना है। किसान दिवस पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन पर मनाया जाता है। 23 दिसंबर 1902 को जन्मे चौधरी चरण ने किसानों के हित में अनेक कदम उठाए थे। बता दें इनका कार्यकाल भारत के पांचवे पीएम के रूप में जुलाई 1979 से जनवरी 1980 तक रहा था। इनके प्रधानमंत्री रहते ही नई दिल्ली में 23 दिसंबर 1978 को ‘किसान ट्रस्ट’ की स्थापना हुई थी।

ऐसे बने थे राजनीति के ‘चौधरी’

चौधरी चरण सिंह पहली बार 1937 में विधायक चुने गए थे। जिन्हें 1977 तक छपरौली-बागपत से विधायक बने रहने का मौका मिला। 1967 में कांग्रेस छोड़कर चौधरी चरण ने अपनी नई पार्टी बना ली थी। ‘भारतीय क्रांति दल’ के नाम से बनी इस पार्टी को उस समय के नेता राममनोहर लोहिया का साथ मिला। किसानों से उनका लगाव और बदलते राजनीतिक समीकरण के वजह से उन्हें पहली बार यूपी में गैर कांग्रेसी पार्टी की सरकार का अगुवाई करने का मौका मिला, और वो यूपी के मुख्यमंत्री बन गए। 1967 से 1970 तक सीएम के पद पर उन्होंने कार्य किया। उन्होंने ही अपने कार्यकाल के दौरान जमींदारी प्रथा को खत्म कर किसानों को बड़ी राहत पहुँचाई थी। खाद पर से सेल्स टैक्स भी हटा लिया था।

राजनीतिक व्यक्तित्व के जयंती पर मनाए जा रहे किसान दिवस में आज देश का किसान खुद राजनीति के दिग्गजों के बुने जाल में फंसता जा रहा है। देश के बहुसंख्यक आबादी का एक वर्ग इन ठंडी हवाओं को बर्दाश्त कर दिल्ली से सटे बॉर्डर पर अपनी मांग को लेकर अड़ा हुआ है और सरकार इसके फायदे गिना रही है।

अगली खबर

Bihar के 16 जिलों में मौसम ने बरपाई कहर, प्री-मानसून ने ली प्रदेश में 33 जाने

लेखक : Sanjeev Kumar

May 21, 2022,

3:11 PM

मौसम अलर्ट: इन दिनों बिहार में मौसम ने रुख बदल लिया है. प्रदेश के कई जिले मौसम के बदलाव से प्रभावित हुए हैं. आसमान से कड़ती हुई बिजली और तेज हवाए लोगों के लिए कहर बनकर बरपा है. पिछले 24 घंटों के भीतर बिहार के 16 जिलों में काफी में काफी नुकसान पहुंची है, जान-माल के साथ 33 लोगों की मौत हो गई है. कई लोगों के घर आंधी के चपेट में आए हैं, घर उजड़ गए हैं. प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का मुआवजा देने के लिए घोषणा किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घड़ी में हम पीड़ित परिवारों के साथ खड़े हैं, सरकार हर कदम पर आपकी मदद के लिए तैयार है.

CM ने प्रदेशवासियों से किया अपील

नीतीश कुमार ने ट्ववीट करते हुए लिखा कि सभी प्रदेश के लोगों से अपील है कि खराब मौसम में सावधानी बरतने की जरूरत है. मौसम विभाग और आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी निर्देशों का अवश्य पालन करें. मौसम खराब हो तो आप घर से बाहर नहीं जाए. वही अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जल्द से जल्द सड़कों पर गिरे हुए पेड़ों को हटाकर आवागमन शुरु करवाए जाए. आपको बता दें कि तेज आंधी-तूफान के कारण कई जगहों पर पेड़ गिर गए जिससे रास्ते बाधित हो गए हैं.

भागलपुर में मौसम का सबसे अधिक कहर

मौसम के रोद्र-रूप ने भागलपुर में अधिक कहर मचाई है. यहां पर 7 लोगों की मौत हो गई है. वही मुजफ्फरपुर में 6, सारण में 3, लखीसराय में 3, मुंगेर में 2. अन्य जिलों में ये आकड़े कम है. हालांकि मौसम विभाग में सभी जिलों के लिए निर्देश जारी किया है. आपको बता दे, खगड़िया में 1, जहानाबाद में 1, पूर्णिया में 1 और नांलदा में 1 की मौत हुई है.

अगली खबर

इस हिंदू प्रोफेसर ने शिवलिंग को लेकर सोशल साइट पर किया था विवादित पोस्ट, Delhi Police ने कर लिया गिरफ्तार

लेखक : Sanjeev Kumar

May 21, 2022,

1:45 PM

नई दिल्ली: शुक्रवार की रात को दिल्ली विश्वविद्यालय के एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि प्रोफेसर के द्वारा सोशल साइट पर आपत्तिजनक फोटो अपलोड किया गया था जिससे धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची. प्रशासन ने आगे बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना और सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिकूल कार्य करना) और 295 ए (जानबूझकर कार्य करना) के तहत गिरफ्तार किया गया है. दिल्ली के एक वकील ने रतन लाल के खिलाफ मंगलवार की रात साइबर पुलिस स्टेशन (उत्तरी दल्ली) में FIR दर्ज कराई. शिकायतकर्ता ने बताया कि लाल ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है. वकील विनीत जिंदल ने अपनी शिकायत में लिखा है कि प्रोफेसर के द्वारा सोशल साइट पर हिंदुओं के आराध्य देवता भोलेनाथ के शिवलिंग को लेकर आपत्तिजनक पोस्ट शेयर किया गया था.

क्या है पुरा मामला?

अयोध्या के बाद बनारस के ज्ञानवापी मस्जिद का मुद्दा पूरे देश में चर्चा का विषय बना है. हाल के महीनों में पांच महिलाओं ने जिला अदालत में एक याचिका दायर की, जिसमें श्रृंगार गौरी मन्दिर में प्रतिदिन पुजा करने के लिए कोर्ट से गुहार लगाई. इसके बाद कोर्ट ने फैसला लेते हुए कहा कि मस्जिद की वीडियोग्राफी हो. तीन बार वीडियोग्राफी के बाद कई ऐसे प्रमाण मिले जो हिंदुओं के पक्ष में था. मस्जिद परिसर में एक शिवलिंग की आकृति जैसा पत्थर मिला, जिसे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बताया कि ये शिवलिंग नहीं है फव्वारा है. इस मसले पर एसोसिएट प्रोफेसर रतन लाल ने भगवान भोलेनाथ को लेकर विवादित पोस्ट शेयर किया था. ये पोस्ट काफी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसके बाद कई हिंदुओं संगठन के कार्यकर्ताओं आपत्ति जताई थी. इस मामले को लेकर रतन लाल कहना है कि हमने ऐसा को विवादित पोस्ट नहीं किया है जिससे हिंदुओं का भावना को ठेस लगे. इसे पहले भी हमने काफी पोस्ट शेयर किया है जो कि काफी साफ और स्वच्छ रहा है.

अगली खबर

रोहतास: रिश्वत मांगने के जुर्म में नगर निगम के प्रभारी प्रधान सहायक पप्पू कुमार निलंबित

लेखक : Sanjeev Kumar

May 13, 2022,

8:58 PM

nagar nigam sasaram

रोहतास पत्रिका/सासाराम: सासाराम नगर निगम में पदस्थापित प्रभारी प्रधान सहायक पप्पू कुमार को रिश्वत मांगने के मामले में निलंबित कर दिया गया है। यह कार्यवाई एक ऑडियो रिकॉर्डिंग एवं व्हाट्स एप्प चैट के सामने आने के बाद की गई है। सासाराम निवासी संजय वैश्य ने रोहतास जिलाधिकारी को लिखित शिकायत आवेदन दिया था जिसमें सिक्योरिटी डिपाजिट मनी वापस करने के एवज में पप्पू कुमार द्वारा रिश्वत की मांग करने का आरोप लगाया गया था। जिसका ऑडियो रिकॉर्डिंग एवं व्हाट्स एप्प चैट भी प्रस्तुत किया गया था।

जिलाधिकारी ने दिए जांच के आदेश 

रिश्वत मांगने के मामले में संजय वैश्य ने रोहतास जिलाधिकारी को लिखित आवेदन के साथ-साथ व्हाट्सएप का चैट तथा कॉल रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध कराया था। आवेदन को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने तत्काल पप्पू कुमार को निलंबित करते हुए दो सदस्यों का एक जांच टीम का गठन कर दिया है। अपर समाहर्ता जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी अनिल कुमार पांडे एवं वरीय उप समाहर्ता रोहतास सौरभ आलोक को जांच का जिम्मा दिया गया।

50 प्रतिशत रिश्वत की हुई थी मांग

संजय वैश्य ने बताया कि उनके भाई नगर निगम के संवेदक है। संवेदक रहते हुए उनके द्वारा कई कार्य कराया गया है। उनके द्वारा नगर निगम में कार्य करने से पहले सिक्योरिटी डिपाजिट किया गया है। सिक्योरिटी डिपाजिट वापस करने के एवज में प्रभारी प्रधान सहायक पप्पू कुमार द्वारा 50 प्रतिशत कमीशन की लगातार मांग की जा रही थी। मांग पूरा नहीं करने पर कई दिनों से मामले को लटका के रखा गया था।

निलंबन के बाद कई अधिकारियों की छूट रहे पसीने

नगर निगम के प्रधान सहायक का निलंबन के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। इस कार्यवाई के बाद अन्य लोगों के साथ-साथ अन्य अधिकारियों के भी पसीने छूटते दिखाई दे रहा है। संजय वैश्य द्वारा उपलब्ध कराए गए रिकॉर्डिंग में यह जिक्र था की तुम्हें जो करना है कर लो, मेरा कुछ नहीं बिगड़ने वाला। हम रिश्वत के पैसे अकेले नहीं लेते है, इसमें और लोगों एवं अधिकारियों को भी कमीशन देना होता है।

अगली खबर

रोहतास: 20 साल पुराने मामले में पूर्व मंत्री समेत 12 लोगों का विशेष अदालत में बयान दर्ज

लेखक : Sanjeev Kumar

May 6, 2022,

5:54 PM

Court News

रोहतास पत्रिका/सासाराम: करीब 20 साल पहले शिवसागर थाना क्षेत्र अंतर्गत बीयरबांध गांव में मारपीट और गोलीबारी के मामले में आज बयान दर्ज किया गया है। बिहार सरकार के पूर्व मंत्री जय कुमार सिंह समेत 12 आरोपितों की अपर जिला जज तीन की विशेष एमएलए-एमपी की अदालत में गुरूवार को पेशी हुई। विशेष अदालत में पूर्व मंत्री समेत सभी 12 आरोपितों का बयान दर्ज किया गया। पूर्व मंत्री अपने अधिवक्ता हीरा प्रताप सिंह के साथ विशेष अदालत में पहुंचे थे। बयान को खुले न्यायालय में सुनाया गया, जिससे पूर्व मंत्री समेत सभी ने इंकार किया।

आपको बता दें, 30 मई 2002 को करीब तीन बजे दिन में शिवसागर थाना के बीयरबांध गांव में मिट्टी फेंकने के विवाद में पहले बाताबाती हुई। इसके बाद गाली गलौज होने लगा। मना करने पर दोनों तरफ से फायरिंग होने लगी। सूचना मिलने के बाद मौके पर पुलिस पहुचती उससे पहले ही सभी लोग भाग गए थे। फायरिंग में कोई भी व्यक्ति हताहत नहीं हुआ था। मामले की प्राथमिकी शिवसागर थाने के चौकीदार श्याम लाल पासवान ने दर्ज कराई थी।

चौकीदार द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में 100-200 राउंड फायरिंग होने की बात कही थी। मामले में पूर्व मंत्री के विरूद्ध 17 जून 2009 को आरोप का गठन किया गया। ट्रायल के दौरान दो लोगों की मौत हो गई थी। 13 साल तक चले ट्रायल के बाद भी एक भी गवाह विशेष अदालत में पेश नहीं हुए है। विशेष अदालत इस मामलें में अगले सप्ताह फैसला सुना सकती है।


Source: Hindustan


हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए क्लिक करें: Click Here

अगली खबर

रोहतास: 8 मई को आयोजित होने वाली BPSC परीक्षा के लिए तैयारियां पूरी, जिलाधिकारी ने दिए आवश्यक निर्देश

लेखक : Sanjeev Kumar

May 6, 2022,

5:23 PM

bpsc exam

रोहतास पत्रिका/सासाराम: 8 मई को होने वाली बिहार लोक सेवा आयोग की परीक्षा को सफल बनाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार की अध्यक्षता में बैठक की गई। परीक्षा को शांतिपूर्ण व कदाचार मुक्त माहौल में सम्पन्न कराने को लेकर सभी प्रतिनियुक्त दंडाधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने आज के बैठक में उपस्थित दंडाधिकारियों, केंद्राधीक्षक को जॉइंट आर्डर में उल्लिखित सभी निर्देशों का अच्छे से अनुपालन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि 12 बजे के पश्चात किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा हॉल में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि परीक्षार्थी द्वारा किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, स्मार्ट वॉच, ब्लूटूथ आदि को लेकर परीक्षा हॉल में जाना पूर्णतः वर्जित रहेगा। आपको बता दें कि सासाराम नगर तथा डेहरी नगर में कुल 35 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें 25 परीक्षा केंद्र सासाराम और 10 परीक्षा केंद्र डेहरी में हैं। यह परीक्षा दोपहर 12:00 बजे से शुरू होकर दोपहर के 2:00 बजे समाप्त होगी। आज के बैठक में डीडीसी शेखर आनंद, सासाराम अनुमंडल के अनुमण्डल पदाधिकारी मनोज कुमार, डेहरी अनुमंडल के अनुमंडल पदाधिकारी समीर सौरभ, सहायक नोडल पदाधिकारी, ज़िला शिक्षा पदाधिकारी संजीव कुमार, उड़नदस्ते से संबंधित पदाधिकारी, स्टैटिक मजिस्ट्रेट, केंद्राधीक्षक आदि उपस्थित रहे।


हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुडने के लिए क्लिक करें: Click Here