पूर्व मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के हाथों सम्मानित हुए पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी के छात्र

Author : Sanjeev Kumar

Soft Tennis Kaimur
  • सॉफ्ट टेनिस में कांस्य पदक लाने पर स्कूल प्रबंधन ने छात्रों को किया सम्मानित

रोहतास पत्रिका/कुदरा: जहानाबाद के स्पोर्ट्स कंपलेक्स में आयोजित तीन दिवसीय 7 वीं बिहार राज्य सॉफ्ट टेनिस चैंपियनशिप प्रतियोगिता में कैमूर टीम की तरफ से खेल रहे हैं पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी,कुदरा के छात्रों का बेहतर प्रदर्शन एवं मेडल हासिल करने के बाद विद्यालय प्रबंधन ने सभी खिलाड़ियों एवं कोच को सम्मानित करते हुए उन्हें बधाई दिया है।

बता दें कि 22 से 24 जुलाई तक जहानाबाद में आयोजित बिहार राज्य ऑफ टेनिस चैंपियनशिप प्रतियोगिता में कैमूर की तरफ से खेल रहे अंडर 15 बालक डबल्स वर्ग में पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी में अध्ययनरत वर्ग 8 के अनूप कुमार सिंह एवं अमृत कुमार शर्मा को कांस्य पदक हासिल हुआ है। इसकी जानकारी देते हुए सॉफ्ट टेनिस एसोसिएशन ऑफ कैमूर के सचिव सह पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी के प्रधानाचार्य सत्यम कुमार ने बताया कि कैमूर टीम की तरफ से खेल रहे पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी के छात्रों ने इस प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन किया और अपने जिले के लिए एक मेडल भी हासिल किया।

उन्होंने बताया कि खेल के समापन समारोह के अवसर पर विद्यालय के दोनों छात्रों को जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा एवं जहानाबाद सांसद चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी के हाथों मेडल पहनाकर, ट्रॉफी एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। श्री कुमार ने बताया कि बच्चों के बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए विद्यालय प्रबंधन ने भी उन्हें सम्मानित किया है।

वहीं पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी के निदेशक संतोष कुमार ने भी अपने विद्यालय के छात्रों द्वारा मेडल लाकर जिले का नाम रोशन करने पर उन्हें बधाई दिया है। उन्होंने कहा कि विद्यालय इस खेल को और आगे तक ले जाएगी और जिले में भी इस खेल को बढ़ावा देने के लिए बड़े स्तर की प्रतियोगिता आयोजित कराई जाएगी ताकि विद्यालय के साथ-साथ कैमूर जिले के अन्य खिलाड़ी भी इस तरह की प्रतियोगिता में भाग ले सकें और जिले का नाम रोशन कर सकें।

इस जीत के लिए उन्होंने टीम कोच विद्याचरण को भी बधाई दिया है। बधाई देने वालो में सॉफ्ट टेनिस एसोसिएशन ऑफ कैमूर के सचिव सत्यम कुमार के अलावा कोषाध्यक्ष जितेंद्र कुमार सिंह एवं विद्यालय के शिक्षक- शिक्षिकाएं एवं अन्य कर्मी शामिल थे।

ताज़ा खबरें

अगली खबर

मोबाइल नहीं देने पर सीने में दाग दी गोली, युवक की हालत गंभीर

Author : Sanjeev Kumar

इन दिनों बिहार में मोबाइल चोरी, छिनतई अब आम बात हो गई है. हर जिलों से प्रतिदिन सैकड़ों इस तरह के केस आते हैं. क्राइम पर कोई रोक नहीं है.अपराधियों के भीतर कानून का भय खत्म होते जा रहा है. प्रदेश के भोजपुर जिले से ऐसी ही एक घटना सामने आई है. जहां एक युवक से जबरन मोबाइल छिनने की कोशिश की गई. जिले के कोईलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा मोड़ स्थित आलू कोल्ड स्टोर के समीप युवक से अपराधी मोबाइल छिन रहे थे. युवक ने जमकर विरोध किया. गिड़गिड़ाता रहा है, कहा कि हम गरीब है हमारे पास मोबाइल नहीं है लेकिन बदमाशों ने एक नहीं सुनी. मोबाइल नहीं देनेे पर युवक के ऊपर गोली चला दी. बदमाश एक अपाची बाइक से आए थे. लड़का पुरी तरह से घायल होकर उसी स्थान पर बेसुध हो गया. परिजनों को सूचना मिलते ही आनन-फानन में आरा शहर के बाबू बाजार स्थित निजी अस्पताल लाया गया. जहां पर युवक इलाज चल रहा है. डॉक्टर ने बताया कि गोली सीने में लगी है, ब्लड काफी बह चुका है. उसके सीने में टेस्ट ट्यूब लगाया जा रहा है. दो यूनिट ब्लड चढ़ाया जाएगा. डॉ.विकास सिंह ने आगे बताया कि स्थिति अभी नाजुक बनी है, युवक को कुछ दिनों तक ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा.

SP ने कहा कि बदमाशों को जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा

घटना की सूचना मिलते ही SP सीधे अस्पताल पहुंच कर घायल से मिले. पुरी घटना की जानकारी लेते उन्होंने बताया कि घायल युवक कोइलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा गांव निवासी लाल मोहन पांडेय का पुत्र 19 वर्षीय अमन पांडे है. अमन दुध प्लांट में पैकिंग का काम करता है. हर रोज की तरह वो काम पर जा रहा था इसी दौरान घटना हो गई. अधीक्षक ने कहा कि हम इसे लुट-पाट की एंगल से ही जांच कर रहे हैं. उस जगह पर जो भी घटनाएं घटी है उसे लेकर जांच करेंगे ताकि अपराधियों को जल्द से जल्द से गिरफ्तार कर सकें. SP ने बताया कि हम लोगों से कोआर्डिनेशन बनाए ऱखे हुए जिससे लॉ एंड आर्डर बनी रहे. वही थाना इंचार्ज प्रवीण कुमार घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गए हैं.

 

अगली खबर

Aadhar Card नहीं दिखाने पर BJP नेता ने एक व्यक्ति की ली जान? सोशल साइट पर वीडियो वायरल

Author : Sanjeev Kumar

मध्य प्रदेश: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें एक युवक से आधार कार्ड नहीं दिखाने पर बेरहमी से पीटा जा रहा है. ये वीडियो मध्यप्रदेश के नीमच जिले की बताई जा रही है हालांकि इस वीडियो की पुष्टि रोहतास पत्रिका नही कर रहा है. वायरल वीडियो में बीजेपी पार्षद के पति दिनेश कुशवाहा को कथित तौर पर जैन की पिटाई करते हुए देखा जा रहा है और उसे आधार कार्ड मांग रहे हैं. बीजेपी नेता युवक से पुछ रहे हैं कि क्या तुम मुस्लिम हो?

वायरल वीडियो पर पुलिस ने क्या कहा?

सोशल मीडिया पर वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में जिस व्यक्ति से आधार कार्ड मांगा जा रहा है. उसका नाम रतलाम के सरसी गांव निवासी 60 वर्षीय भंवरलाल जैन बताया जा रहा है. वहीं मानसा से भंवरलाल मृत स्थित में पाए गए. पुलिस ने शनिवार को सूचना दिया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने शनिवार को IPC की धारा 304 (लापरवाही से मौत) और 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की. मनासा थाना प्रभारी केएल डांगी ने बताया कि भंवरलाल जैन 18 मई को अपने परिवार के साथ चित्तौड़गढ़ गया था. उसके बाद में वह लापता हो गया. शुक्रवार को नीमच जिले के मनासा में उनका शव मिला. उन्होंने आगे कहा कि हम वीडियो की जांच कर रहे हैं. मामले में आरोपी के साथ वीडियो बनाने वाले के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस मामले के बाद दिनेश कुशवाहा फरार हो गए हैं.

स्थानीय नेताओं ने बोला हमला

Congress के नेताओं ने BJP सरकार पर कई सवाल खड़े किए हैं. विधायक जीतू पटवारी ने कहा, ‘राज्य में कानून-व्यवस्था नहीं है और सिर्फ आधार कार्ड नहीं दिखाने पर एक व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डाला गया. मुस्लिम, दलित और आदिवासी के बाद जैन पर हमले हुए. प्रदेश में कोई सुरक्षित नहीं है. इस मामले को लेकर गृह मंत्री अमित शाह जी को कुछ कहना चाहिए. वही BJP के प्रवक्ता हितेश वाजपेयी ने कहा, ‘यह बेहद दुखद घटना है, मामले की निष्पक्ष जांच होगी.

अगली खबर

दो बच्चे के पिता ने 7 साल की बच्ची के साथ किया रेप, बच्ची की हालत नाजुक

Author : Sanjeev Kumar

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है जहां पर एक युवक ने 7 साल की बच्ची के साथ रेप किया है. युवक का नाम विकास कुमार है जो कि मिठनपुरा का रहने वाला है. आरोपी की गिरफ्तारी हो गई है. आरोप स्वीकार्य करते हुए कहा कि मैं नशे के हालत में था इसलिए ये घटना हो गया. मैं होश में नहीं था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. महिला थाना की पुलिसकर्मी स्नेही ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी उसके घर से हो गई है. आरोपी दो बच्चे का पिता है. उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. उसे जेल भेजा जा रहा है.

तीन दिन पूर्व की घटना

आरोपी तीन दिन पहले एक शादी समारोह में गया था. जिस बच्ची के साथ रेप हुआ है उसके मौसा के साथ शादी में शामिल हुआ. शादी के दौरान युवक ने बच्ची को कोल्ड ड्रिंक पिलाने का झांसा देकर उसे बाइक पर बैठाकर घर के बाहर सुनसान झाड़ियों में ले गया और बच्ची के साथ रेप किया. बच्ची ने चिल्लाने की कोशिश की तो उसकी आवाज दबाकर उसके साथ जबरन रेप करते रहा. उसके बाद बच्ची को वही छोड़कर भाग गया. पीड़ित बेहोशी की हालात में पाई गई जहां पर दरिंदा ने रेप किया था. बच्ची अस्पताल में भर्ती है परिजनों ने बताया कि प्राइवेट पार्ट में काफी ब्लीडिंग हो गई है. आनन-फानन में पहले PHC में प्राथमिक इलाज करवाया गया है उसके बाद डॉक्टर ने SKMCH रेफर कर दिया. फिलहाल बच्ची SKMCH में भर्ती है. जहां पर उसका इलाज चल रहा है, स्थित काफी नाजुक बताई जा रही है. वहीं स्थानीय लोगों इसे लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की है. लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि क्षेत्र में क्राइम की घटना में काफी वृद्धि हो गई है. प्रशासन घटना होने का इंतजार करती है.

अगली खबर

रोहतास: अगरेर खुर्द दलित हत्याकांड के मुख्य आरोपी गिरफ्तार, 21 दिन बाद पुलिस को मिली सफलता

Author : Sanjeev Kumar

Agar Khurd Dalit Murder Case

रोहतास पत्रिका/सूर्यपुरा: सूर्यपुरा थाना अंतर्गत अगरेर खुर्द गांव में 20 मार्च को आपसी विवाद में एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद मामले के आरोपी फरार चल रहे थे। अब हत्याकाण्ड के 21 दिन बाद सोमवार को पुलिस को मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। मिली जानकारी के अनुसार अभियुक्त ब्रिज भूषण पांडे को पुलिस ने बिक्रमगंज थाना क्षेत्र से जांच के लिए गठित एसआईटी ने गिरफ्तार किया है।

घटना में प्रयुक्त हथियार अभी भी पुलिस के पहुँच से बाहर, नहीं हुआ आर्म्स लाइसेंस रद्द

घटना के बाद मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने बताया था कि दलितों पर गोलीबारी करने में प्रयुक्त हथियार लाइसेंसी है या अवैध इसकी जांच की जा रही है। जांच में पता चला कि जिस हथियार से गोलीबारी हुई थी वह हथियार लाइसेंसी और उसकी लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा की गई है। जब इस संबंध में बिक्रमगंज एसडीपीओ से बात किया गया तो पता चला की हथियार का लाइसेंस घटना के 21 दिन बीत जाने के बाद भी रद्द नहीं किया है।

मृतक की पत्नी ने कराई थी प्राथमिकी दर्ज

मृतक राजदेव पासवान की पत्नी इंदु देवी ने स्थानीय सूर्यपुरा थाना में गांव के ही 8 दबंगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। सूर्यपुरा थानाध्यक्ष सुसंत कुमार ने धारा 147/148/149/341/323/447/307/302/504, 27 आर्म्स एक्ट एवं एससी/एसटी एक्ट के तहत कांड संख्या 32/22 दर्ज किया था। इस कांड में कुल 8 लोगों को नामजद किया गया था जिसमें अगरेर खुर्द निवासी भैया राम पांडे के पुत्र बृज भूषण पांडे, चंद्र भूषण पांडे एवं राज भूषण पांडे, स्व जय गोविंद पांडे के पुत्र भैया राम पांडे, बृज भूषण पांडे का पुत्र विकास पांडे, श्रीकांत दुबे का पुत्र सौरभ दुबे उर्फ किस्तु दुबे, रंगनाथ पांडे का पुत्र अभय पांडे एवं कमलेश पांडे का पुत्र संजीव पांडे शामिल है।

दिन-दहाड़े दो लोगों को मारी गई थी गोली, एक की हुई थी मौत

सूर्यपुरा थाना क्षेत्र के अगरेर खुर्द गांव में उक्त विवाद में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। एक अन्य व्यक्ति को भी गोली लगी थी, लेकिन उसकी जान बच गई थी। ग्रामीण बताते है कि आपसी विवाद में झगड़ा बढ़ गया और कुछ लोगों द्वारा दिनदहाड़े फायरिंग की जाने लगी थी। जिसमें राजदेव पासवान एवं संतोष पासवान को गोली लग गई। राजदेव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि संतोष को बिक्रमगंज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

3 दिनों से जारी तनाव ने लिया खूनी रूप

स्थानीय लोग बताते है कि 17 मार्च को अगरेर खुर्द गांव में नाली के ऊपर रखा पत्थर का स्लैब नाली में गिर गया था। उस स्लैब को निकाल कर हटाने को लेकर विवाद हो गया। तब गांव के दबंगों ने नींबू राम की पिटाई कर दी। उसी विवाद में 20 मार्च को भी दोनों पक्षों में नोंक-झोक हुआ। इसके बाद गांव के ही दबंगों के पक्ष से ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी जिसमें राजदेव पासवान और संतोष पासवान को गोली लग गई थी।

अगली खबर

जातिगत जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक, तेजस्वी ने कही बड़ी बात

Author : Sanjeev Kumar

पटना: जातिगत जनगणना को लेकर सभी पार्टियों की सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. ये बैठक पटना में आयोजित हुआ था. जहां RJD का प्रतिनिधित्व तेजस्वी यादव कर रहे थे. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिल को अगली कैबिनेट बैठक में लाने और नवंबर के महीने में इसे शुरू करनी चाहिए. उनका आगे कहना था कि छठ पुजा में बिहार से बाहर रहने वाले कई लोग घर आते हैं इस समय आकड़े सही प्राप्त होंगे, और पर्याप्त समय भी तैयारी करने के लिए मिल जाएगा. पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जातीय जनगणना है ना कि जनगणना, ये हमारी जीत है. बैठक के दौरान तेजस्वी ने बताया कि इसमें मानव शास्त्रियों को शामिल करने के लिए अपना सुझाव दिया है. इसे लेकर केन्द्र सरकार को आगे आना चाहिए और आर्थिक रुप से समर्थन करना चाहिए. ये फैसला बिहार के रहने वाले लोगों के हित में है.

नीतीश कुमार ने कही ये बात

बिहार प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार ने बैठक को लेकर अपनी खुशी जताई. उन्होंने कहा कि सरकार राष्ट्रीय स्तर पर जाति जनगणना कराने के लिए केंद्र की अनिच्छा के बाद राज्य में “सभी जातियों और समुदायों का सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण” करेगी. वही सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद, कुमार ने कहा कि विशाल अभ्यास के लिए आवश्यक कैबिनेट मंजूरी जल्द ही दी जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि ये खुशी के बात है कि सभी दलों के लोगों ने इस बैठक को लेकर सर्वसम्मति से समर्थन किया है.

बीजेपी से कौन-कौन शामिल

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और राज्य इकाई के प्रमुख संजय जायसवाल ने बैठक में भाग लिया. बीजेपी अपने केन्द्र के फैसले पर अडिग रही. इस बैठक को लेकर बीजेपी के नेताओं ने कैमरे से बचने की कोशिश की. जातीय जनगणना को लेकर बीजेपी के कई नेता इसके हक में नहीं है लेकिन उनके भी अपनी मजबूरी है. आपको बता दें कि केन्द्र सरकार ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि अगर राज्य सरकार जातीय जनगणना कराना चाहती है तो राज्य सरकार स्वतंत्र है. केन्द्र सरकार के तरफ से कोई भी आर्थिक मदद नहीं मिल पाएगी.

अगली खबर

जाति आधारित जनगणना का विरोध BJP करेगा तो टूट जाएगा NDA का गठबंधन : BJP थिंक टैंक

Author : Sanjeev Kumar

रोहतास पत्रिका/पटना: बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सभी पार्टियों की सहमति बन गई है. इस बात की जानकारी शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने दी. शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री ने पहले ही बता दिया है कि जाति आधारित जनगणना पर जल्द ही पटना में एक बैठक होगी. मंत्री ने स्पष्ट करते हुए बताया कि बिहार सरकार ने एक जून (बुधवार) को पटना में जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक करने का फैसला किया है. इस तारीख पर सभी दलों ने अपनी सहमति जताई है. आगे चौधरी ने कहा कि बैठक का स्थान 4 देश रत्न मार्ग, पटना में शाम करीब 4 बजे आयोजित होगा. वही बैठक में सभी पार्टियों के शीर्ष नेताओं का आगमन तय माना जा रहा है.

सभी पार्टियों की सहमति

27 मई को हुई बैठक को लेकर नीतीश कुमार ने सकारात्मक संकेत दिए थे. बिहार में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को छोड़कर RJD, JDU, कांग्रेस, वाम दल, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) और अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) सहित सभी दलों ने जाति-आधारित जनगणना पर सहमति व्यक्त की. भाजपा अपने केंद्रीय नेतृत्व के रुख पर अड़ी हुई थी, जिसने देश में जाति आधारित जनगणना नहीं करने का फैसला किया था हालांकि अब बीजेपी की रूख में हल्की नरमी देखी जा रही है.

BJP की असहमति से टूट जाएगी गठबंधन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जाति आधारित जनगणना कराने के अपने फैसले पर अडिग हैं. BJP थिंक टैंक का मानना ​​है कि अगर वे बिहार में जाति आधारित जनगणना का विरोध करेंगे तो सीएम नीतीश कुमार बीजेपी से गठबंधन तोड़ सकते हैं और राजद की मदद से बिहार में सरकार बना सकते हैं. नीतीश कुमार और तेजस्वी की बढ़ती नजदीकियों से BJP परेशान दिख रही है. भाजपा को डर सता रहा कि गठबंधन ना टूटे, इसी को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने अपनी सहमति जताई है. आपको बता दें, प्रधानमंत्री ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि राज्य अपने खर्च पर जाति आधारित जनगणना करने के लिए स्वतंत्र हैं.

अगली खबर

“नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ी नज़दीकियां तो CBI ने लालू यादव के आवास पर मार दी रेड” – RJD विधायक मुकेश रौशन

Author : Sanjeev Kumar

बिहार के पूर्व मुखिया लालू प्रसाद के घर तड़के सुबह CBI की टीम ने रेड मारी है. पटना और दिल्ली समेत 17 ठिकानों पर छापेमारी जारी है. टीम ने बताया कि रेलवे भर्ती बोर्ड में हुई गड़बड़ी को लेकर कार्रवाई हुई है. पटना, दिल्ली और गोपालगंज समेत कई जगहों पर रेड जारी है. घर के सदस्यों को अलग-अलग कमरे में बैठाकर पूछताछ की जा रही है. वहीं दिल्ली में मिसा भारती के घर पर CBI के बड़े अधिकारी पहुंचे है.

तेज प्रताप यादव को बैठाया पेड़ के नीचे

CBI की टीम पहुंचते ही RJD के कार्यकर्ताओं ने घर के बाहर प्रदर्शन करना शुरु कर दिया है. धरने पर बैठे कई RJD के नेताओं ने कहा कि ये बदले की राजनीति है. सरकार हमारे नेता लालू यादव जी को परेशान करने में लगी है लेकिन हम चुप बैठने वाले नहीं है. वहीं टीम ने तेज प्रताप को पेड़ के नीचे बैठा दिया था. इसके बाद तेज प्रताप ने बिना कुछ कहे चुपचाप पेड़ के नीचे बैठे रहें. 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर CBI की 8 सदस्यीय अफसरों में महिला कर्मचारी भी छानबीन के लिए पहुंची है. आवास में किसी को अंदर बाहर जाने पर रोक लगा दिया गया है. टीम सभी दस्तावेजों को खंगाल रही है. वहीं राबड़ी देवी से पूछताछ करने की खबरें आ रही हैं.

पुरा मामला क्या है?

आपको बता दे कि 2004 से 2009 के बीच लालू प्रसाद यादव रेलमंत्री थे इसी बीच रेलमंत्री ने नौकरी देने के बदले जमीन और कई प्लॉट लिए. इसी आरोप को लेकर एक नया केस दर्ज हुआ है, जिसे लेकर CBI की टीम जांच में लगी है. ये केस लालू यादव और उनकी बेटी मिसा भारती पर हुई है. इधर, RJD के विधायक मुकेश रौशन ने कहा कि RJD और JDU के नजदीकियों से BJP परेशान हो गई है इसलिए छापेमारी करवा रही हैं. इस समय लालू यादव की तबीयत खराब है, उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है और तेजस्वी यादव भी शहर से बाहर है.ऐसे समय में रेड मारना उचित नहीं है.

अगली खबर

विशेष: राजनीति के ‘चौधरी’ कहे जाने वाले नेता की जयंती से जुड़ा है ‘किसान दिवस’ का इतिहास, जानिए सबकुछ

Author : Sanjeev Kumar

Chaudhary charan singh

रोहतास पत्रिका/नई दिल्ली:

हर साल 23 दिसंबर को देश में ‘राष्ट्रीय किसान दिवस’ मनाया जाता है, लेकिन इस बार ये किसान आंदोलन की वजह से मुख्य केंद्र बिंदु बना हुआ है। बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर पूरे देश में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। एक कृषि प्रधान देश होने के नाते भारत की बहुसंख्यक आबादी खेती से जुड़ी है। चलिए इस बहुसंख्यक आबादी से जुड़े ‘किसान दिवस’ के इतिहास पर नजर डालते हैं और आज के परिपेक्ष्य में समझने की कोशिश करते हैं।

किसान दिवस मनाए जाने का प्रमुख कारण देश में किसानों की प्राथमिकता को महत्व देना एवं उनके हित में चलाई गई योजनाओं के बारे में किसानों को परिचित कराना है। किसान दिवस पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन पर मनाया जाता है। 23 दिसंबर 1902 को जन्मे चौधरी चरण ने किसानों के हित में अनेक कदम उठाए थे। बता दें इनका कार्यकाल भारत के पांचवे पीएम के रूप में जुलाई 1979 से जनवरी 1980 तक रहा था। इनके प्रधानमंत्री रहते ही नई दिल्ली में 23 दिसंबर 1978 को ‘किसान ट्रस्ट’ की स्थापना हुई थी।

ऐसे बने थे राजनीति के ‘चौधरी’

चौधरी चरण सिंह पहली बार 1937 में विधायक चुने गए थे। जिन्हें 1977 तक छपरौली-बागपत से विधायक बने रहने का मौका मिला। 1967 में कांग्रेस छोड़कर चौधरी चरण ने अपनी नई पार्टी बना ली थी। ‘भारतीय क्रांति दल’ के नाम से बनी इस पार्टी को उस समय के नेता राममनोहर लोहिया का साथ मिला। किसानों से उनका लगाव और बदलते राजनीतिक समीकरण के वजह से उन्हें पहली बार यूपी में गैर कांग्रेसी पार्टी की सरकार का अगुवाई करने का मौका मिला, और वो यूपी के मुख्यमंत्री बन गए। 1967 से 1970 तक सीएम के पद पर उन्होंने कार्य किया। उन्होंने ही अपने कार्यकाल के दौरान जमींदारी प्रथा को खत्म कर किसानों को बड़ी राहत पहुँचाई थी। खाद पर से सेल्स टैक्स भी हटा लिया था।

राजनीतिक व्यक्तित्व के जयंती पर मनाए जा रहे किसान दिवस में आज देश का किसान खुद राजनीति के दिग्गजों के बुने जाल में फंसता जा रहा है। देश के बहुसंख्यक आबादी का एक वर्ग इन ठंडी हवाओं को बर्दाश्त कर दिल्ली से सटे बॉर्डर पर अपनी मांग को लेकर अड़ा हुआ है और सरकार इसके फायदे गिना रही है।

अगली खबर

रोहतास: शांतिपूर्ण सम्पन्न हुई बुनियादी साक्षरता परीक्षा, नवसाक्षरों ने उत्साह के साथ लिया भाग

Author : Sanjeev Kumar

literacy test
  • कदाचार रहित माहौल में संपन्न हुई बुनियादी साक्षरता परीक्षा

रोहतास पत्रिका/डेहरी: अक्षर आंचल योजना के तहत रविवार को आयोजित बुनियादी साक्षरता परीक्षा शांतिपूर्ण और कदाचाररहित माहौल में संपन्न हो गई। सुबह 10:00 बजे से ही परीक्षा केंद्रों पर शिक्षा सेवकों द्वारा नवसाक्षर महिलाओं को लाया गया। महापरीक्षा को लेकर महिलाओं में काफी उत्साह देखा गया। घर के कामों की व्यस्तता के बावजूद महिलाएं गोद में बच्चे को लेकर परीक्षा देने पहुंची थीं। परीक्षा में प्रखंड के लक्ष्य के अनुरूप 1820 में से 1796 परीक्षार्थियों के परीक्षा में शामिल होने की सूचना प्राप्त हुई।

प्रखंड में 20 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, जहां शिक्षा सेवकों और केंद्र अधीक्षकों के नेतृत्व में परीक्षा का आयोजन किया गया। परीक्षा के सफल संचालन को लेकर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी सुरेश प्रसाद ने अपने प्रखंड क्षेत्र में निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में परीक्षा केंद्र प्राथमिक विद्यालय तारबंगला में परीक्षा से पूर्व महिलाओं को कलम, पेंसिल, इरेज़र, शार्पनर आदि देकर तथा महिलाओं के हाथ एवं बेंच -डेस्क सैनिटाइज करा कर परीक्षा में बैठाया गया। जहां नवसाक्षर महिलाओं के साथ साथ केंद्राधीक्षक सह प्रधान शिक्षक अमरनाथ पंडित और साक्षरता कर्मी कौशल कुमार भी परीक्षा के सफल संचालन को लेकर काफी उत्साहित दिखे।

अगली खबर

रोहतास: वित्तीय अनियमितता मामले में नोखा ईओ के खिलाफ प्रपत्र “क” गठित

Author : Sanjeev Kumar

रोहतास पत्रिका/सासाराम: प्रशासक नगर परिषद् नोखा-सह-निदेशक, लेखा प्रशासन एवं स्वनियोजन, जिला ग्रामीण विकास अभिकरण, रोहतास, सासाराम के पत्रांक- 579/जि.ग्रा., दिनांक-28.03.2022 द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद्, नोखा के विरूद्ध सैरात बन्दोबस्ती के संबंध में कार्यालय कार्य पद्धति के अनुसार कार्य नहीं करने, प्रशासक के अनुमोदन के बिना ही नई योजना का कार्यान्वयन कराने, कार्यान्वित योजनाओं में राशि व्यय करने, साफ-सफाई संस्था को राशि भुगतान करने एवं संस्था का एकरारनामा समाप्त होने के पश्चात भी अवैध ढंग से कार्य लेने, वित्तीय अनियमितता एवं अनुशासनहीनता के संबंध में गंभीर आरोप प्रतिवेदित किये गये है।

आरोपों के अतिगंभीर प्रकृति के कारण उक्त आरोपों की संयुक्त जाँच जिला पदाधिकारी,रोहतास के ज्ञापांक- 1535/गो॰, दिनांक- 12.05.2022 द्वारा भानु प्रकाश, जिला योजना पदाधिकारी, रोहतास एवं चेत नारायण राय, वरीय उप समाहर्ता, रोहतास से करायी गई। संयुक्त जाँच दल द्वारा पत्रांक-2550/विधि, दिनांक- 28.05.2022 द्वारा जाँच प्रतिवेदन अधोहस्ताक्षरी को समर्पित किया गया है, जिसमें संयुक्त जाँच दल द्वारा मंतव्य के रूप में प्रतिवेदित किया गया है कि “कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद्, नोखा के द्वारा साफ-सफाई करने वाली संस्था के असंतोषप्रद कार्य के पश्चात भी भुगतान किया जा रहा है जबकि ऐसी संस्था का एकरारनामा रद् कर उसे काली सूची में दर्ज करने की कार्रवाई की जानी चाहिए थी।

इसे संयुक्त जाँच दल द्वारा बिना संतोषप्रद कार्य के किया गया भुगतान को भुगतान मानते हुए उसे वित्तीय अनियमितता की श्रेणी में दर्शाया गया है। इसी प्रकार नई योजनाओं के कार्यान्वयन एवं कार्यान्वित योजनाओं में राशि विमुक्ति/भुगतान आदि प्रशासक के अनुमोदन/स्वीकृति के पश्चात ही किया जाना चाहिए था जो कि कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद्, नोखा द्वारा नहीं किया गया है जिसे नियमानुकूल नहीं बताया गया है। प्रशासक से समन्वय स्थापित कर कार्य कराना कार्यपालक पदाधिकारी का दायित्व था जिसका निर्वहन उनके द्वारा नहीं किया गया है।’’

उक्त संयुक्त जाँच प्रतिवेदन के आलोक में अमित कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद्, नोखा से इस कार्यालय के पत्रांक- 1926/गो॰, दिनांक- 15.06.2022 द्वारा कारण पृच्छा करते हुए स्पष्टीकरण समर्पित करने हेतु निर्देशित किया गया। तद्आलोक में कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद्, नोखा द्वारा अपने पत्र सं॰-512, दिनांक- 02.07.2022 के माध्यम से स्पष्टीकरण समर्पित किया गया। समर्पित स्पष्टीकरण पर संयुक्त जाँच दल से पुनः मंतव्य की मांग की गयी (पत्रांक-’ 2313/गो॰, दिनांक- 07.07.2022।

संयुक्त जाँच दल द्वारा अपने पत्र संख्या- 4786/विधि, दिनांक- 03.09.2022 द्वारा सभी आरोपों के संबंध में प्राप्त स्पष्टीकरण की बिन्दुवार समीक्षा करते हुए श्री अमित कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, नोखा के विरूद्ध प्रशासक नगर परिषद, नोखा-सह-निदेशक, डीआरडीए, रोहतास द्वारा लगाये गये आरोपों की प्रकृति को गंभीर मानते हुए इसे स्वेच्छाचारिता, वित्तीय अनियमितता दर्शाते हुए श्री कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, नोखा के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की गई है। संयुक्त जाँच दल से प्राप्त अनुशंसा के आलोक में अमित कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, नोखा के विरूद विहित प्रपत्र में प्रपत्र-‘‘क‘‘ गठित कर आरोप पत्र के साथ उनके विरूद्ध विभागीय कार्रवाई प्रारंभ करने एवं उन्हें निलंबित करने की अनुशंसा की गई है।

अगली खबर

सासाराम: बिहार पुलिस में परचम लहराने वालें दर्जनों अभ्यर्थियों को किया गया सम्मानित

Author : Sanjeev Kumar

mahaveer quiz
  • सभी पंचायतों में खुलेगा नि:शुल्क लाइब्रेरी सेंटर: मुरारी प्रसाद गौतम

रोहतास पत्रिका/सासाराम: कुराईच स्थित निःशुल्क शिक्षण संस्थान महावीर क्विज एन्ड टेस्ट सेंटर द्वारा शनिवार को बिहार पुलिस में चयनित अभ्यर्थियों को सम्मान समारोह का आयोजन कर सम्मानित किया गया। बता दें की पिछले दिनों केंद्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) द्वारा आयोजित परीक्षा का परिणाम जारी किया गया जिसमें नि:शुल्क संस्था से चार दर्जन से अधिक अभ्यर्थियों ने सफलता अर्जित किया है।

इसी को लेकर संस्था द्वारा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री सह चेनारी विधानसभा से विधायक मुरारी प्रसाद गौतम ने सभी सफल पुरुष महिला अभियार्थियों को सम्मानित किया।

सम्मान समारोह में छात्रों को सम्बोधित करते हुए पंचायती राज मंत्री सह चेनारी विधायक मुरारी प्रसाद गौतम ने कहा कि महावीर क्विज सेंटर जिले के लिए एक मिशाल है की यहां प्रतियोगी परीक्षाओं की तयारी निशुल्क कराई जाती हैं। और दूर दराज से बच्चे आकार इस मंदिर के प्रांगण में दरी बिछाकर बैठ पढ़ाई करते है और यहां से सफलता हासिल करते हैं।

उन्होंने कहा की इस संस्था से प्रेरित होकर मैंने बिहार के हर पंचायत में लाइब्रेरी खोलने का निर्णय लिया है। क्यों की इस तरह के संस्थान में अधिकतर गरीब परिवार के ही बच्चे आते हैं। उन्हें अपने गांव से कई किलोमीटर दूर पढ़ने आना पड़ता है। ऐसे में यदि पंचायत स्तर पर ही पुस्तकालय का निर्माण हो जाए तो प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले बच्चों को काफी सहूलियत होगी। इस लिए पंचायत में लाइब्रेरी खोलने की योजना बना रहे है। वहां पर सभी प्रकार के कॉम्पिटेटीव एग्जाम में प्रयोग होने वाले पुस्तकों को भी रखा जाएगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार विधान परिषद सदस्य रामेश्वर कुमार महतो ने बताया कि यह संस्था काफी वर्षों से नि:शुल्क और निस्वार्थ भाव से छात्र-छात्राओं के लिए हरदम तत्पर रहा है। बिहार पुलिस में चयनित सभी अभ्यर्थियों को हार्दिक शुभकामनाएं एवं जो भी छात्र-छात्राएं अभी आगामी प्रतियोगिताओं की तैयारियां कर रहे है उनको सफल होने की कामना करते हैं। अगर संस्था को सुचारू रूप से चलाने में जो भी परेशानी आ रही है उसको दूर करने के लिए हर संभव मदद का वादा करते हैं।

संस्था के संस्थापक छोटेलाल सिंह ने बताया कि संस्था अध्ययनरत छात्रों के लिए हर संभव मदद करने के लिए प्रयासरत है। संस्था से अध्ययन कर जॉब पा चुके जॉब होल्डर समय-समय पर आ कर पढ़ने वाले के बीच अपना एक्सपेरिएंस शेयर करते है जिससे छात्रों को सहूलियत मिलती है।

मौके पर बिहार विधान परिषद सदस्य रामेश्वर कुमार महतो (सीतामढ़ी), पूर्व नगर परिषद उपचेयरमैन चंद्रशेखर कुशवाहा, विवेक कुमार उर्फ डब्लू, वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश कुमार, अधिवक्ता उपेंद्र कुमार, जुबेनाइल कोर्ट मेंबर विशाल कुमार, मुन्ना चौहान एवं अन्य लोग शामिल हुए। साथ ही बिहार पुलिस में चयनित दर्जनों अभ्यर्थी, सैकड़ो जॉब होल्डर तथा संस्था में अध्ययनरत छात्र – छात्राएं मौजूद रहे।


खबर/विज्ञापन चलवाने के लिए संपर्क करें: 7367872336 

अगली खबर

नोखा की बिटिया ने नीट क्वालीफाई करके जिला का नाम किया रौशन

Author : Sanjeev Kumar

neet

रोहतास पत्रिका/सासाराम: रोहतास जिला अंतर्गत नोखा प्रखंड अंतर्गत सरियांव गांव निवासी मनोज सिंह की पुत्री तृप्ति सिंह ने ऑल इंडिया मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट में 655 अंक प्राप्त करके जिला का नाम रौशन किया है। तृप्ति के दादा सेवानिवृत शिक्षक राम प्रताप सिंह बताते हैं की तृप्ति बचपन से ही मेधावी छात्रा रही है। मैट्रिक में 10 सीजीपीए प्राप्त किया था, जबकि इंटर में भी अच्छे अंकों के साथ पास हुई थी।

बता दें की तृप्त सिंह के पिता मनोज सिंह बरौनी बेगूसराय स्थित इंडियन ऑयल रिफाइनरी में कार्यरत थे और माता मीना सिंह गृहणी है इस वजह से तृप्ति सिंह का प्रारंभिक शिक्षा बरौनी बेगूसराय स्थित डीएवी से हुई है। वर्ष 2019 में पिता का तबादला इंडियन ऑयल रिफाइनरी पानीपत में हो गया और तृप्ति ने दिल्ली से अपना बारहवीं की पढ़ाई पूरी कर के वही से नीट परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी। वही तृप्ति के माता पिता अपनी बेटी की सफलता पर गौरवान्वित हो रहें हैं।

उनलोगों ने कहा की आज बेटियां सभी क्षेत्रों में आगे निकल रहीं है बस जरूरत है उन्हे एक मौका देने की। उन्होंने कहा की अपनी बेटी की सफलता पर काफी खुश है क्योंकि नीट परीक्षा में बेहतर स्थान प्राप्त कर कर अपने माता पिता ही नही वरन अपने जिले का भी नाम रौशन किया हैं। वही तृप्ति अपनी सफलता की श्रेय अपने माता, पिता, दादा, गुरुजनों और स्वर्गीय दादी को देती हैं।

तृप्ति डॉक्टर बन देश व समाज का सेवा करना चाहती है। प्रतियोगी छात्रों के लिए कहती हैं कि कड़ी मेहनत व लगन से अध्ययन करें तो सफलता निश्चित मिलेगी। नीट का परिणाम घोषित होने के साथ ही तृप्ति के परिजनों समेत रिस्तेदारो में भी खुशी की लहर है। लोग बधाइयां देने के लिए उसके घर पहुंच रहे हैं।


खबर/विज्ञापन चलवाने के लिए संपर्क करें: 7367872336 

अगली खबर

शहरी स्वाथ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए एमओआईसी व अशाकर्मी की होगी नियुक्ति: सिविल सर्जन

Author : Sanjeev Kumar

psi
  • शहरी स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने को लेकर पीएसआई इंडिया ने किया कार्यशाला का आयोजन

रोहतास पत्रिका/सासाराम: शहरी क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने और लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से गुरुवार को एक निजी होटल में पीएसआई इंडिया के तत्वावधान में एकदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। उक्त कार्यशाला में शहरी क्षेत्रों में खासकर स्लम बस्तियों में स्वास्थ्य सुविधा को बेहतर करने और उसके लिए सुझाव लेने के लिए स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, आईसीडीएस विभाग, मुंसिपल कारपोरेशन, सहित स्वास्थ्य विभाग के सभी सहयोगी संस्थाओं को भी आमंत्रित किया गया था।

कार्यशाला का उद्घाटन मुख्य अतिथि रोहतास के सिविल सर्जन डॉ के एन तिवारी के अलावा डीपीएम अजय कुमार, डीआईओ डॉ आरकेपी साहू, सहायक नगर आयुक्त सासाराम, एसीएमओ डॉ अशोक कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से किया।

शहरी स्वाथ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए एमओआईसी व अशाकर्मी की होगी नियुक्ति: सिविल सर्जन

इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ के एन तिवारी ने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोहतास जिला बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। कोरोना टीकाकरण हो या फिर रूटीन टीकाकरण या फिर अन्य कार्यक्रम सभी में जिला स्वास्थ्य समिति बेहतर करने में लगा हुआ है। सिविल सर्जन ने कहा कि जिला स्वास्थ्य समिति ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने को लेकर प्रयासरत है।

सासाराम प्रखंड के शहरी क्षेत्रों में स्थित 5 उप स्वास्थ्य केंद्रों में से 3 उप स्वास्थ्य केंद्रों पर अभी भी एमओआईसी मौजूद नहीं है, परंतु सभी केंद्रों पर एमओआईसी की नियुक्ति के लिए प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्रों में आशा कर्मियों की भी कमी देखी जा रही है। उस पर पर जिला स्वास्थ्य समिति लगातार कार्य कर रहा है और जल्द से जल्द आशा कर्मियों की नियुक्ति कर स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर किया जाएगा।

स्वास्थ्य सुविधाओं को लोगों तक पहुँचना मुख्य मकसद

वहीं पीएसआई इंडिया के पटना से आए एसआईएल विवेक मालवीय ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में रोहतास जिले का स्थान सहित कई अन्य महत्वपूर्ण आंकड़ों पर चर्चा की । उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के अलावा शहरी क्षेत्रों में भी कुछ ऐसे स्थान हैं जहां स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर करने की जरूरत है। स्वास्थ्य सुविधाएं तो लोगों तक पहुंच रही परंतु लोग उस सुविधाओं का इस्तेमाल भरपूर नहीं कर पा रहे हैं ।

जिसमें कहीं ना कहीं जागरूकता की कमी देखी जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि लोगों को जागरूक करके स्वास्थ्य से जुड़ी सभी सुविधाओं को उपयोग करवाना है। इसके लिए स्वास्थ विभाग के साथ सहयोगी संस्थाएं भी अपनी अहम भूमिका निभा रही है। उन्होंने कहा की आज भी शहरी क्षेत्रों में महिलाएं या युवतियां मासिक धर्म, परिवार नियोजन के संसाधनों पर खुल कर बात नही कर पा रही हैं जिस कारण वे कई सुविधाओं को लेने से वंचित हो जा रही हैं। वहीं परिवार नियोजन को लेकर पुरुषों में भी चुप्पी देखी जाती है। इस सोच को बदलना है ताकि लोग स्वास्थ्य की सुविधाओं को बेहतर तरीके से इस्तेमाल करें।

कार्यक्रम में पीएसआई इंडिया के सीआईएल गया के अजय कुमार ,अर्चना मिश्रा, सीआईएल रोहतास शैलेंद्र तिवारी , डीटीएल केयर इंडिया के दिलीप मिश्रा, फील्ड प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर पीएसआई बेतिया की प्रेमाकुमारी के अलावा डिस्ट्रिक्ट पब्लिक हेल्थ ऑफिसर केयर इंडिया के अरविंद गोस्वामी, डिस्ट्रिक हेल्थ कंसलटेंट सासाराम अर्बन के तारिक अनवर, यूनिसेफ के एसएमसी असजद इकबाल सागर, आरबीएसके जिला कोर्डिनेटर डॉ नंद किशोर चतुर्वेदी, पिरामल की तान्या शर्मा, शिवांगी पटेल सहित अन्य सहयोगी संस्थानों के जिला समन्वयक मौजूद रहे।


यह भी पढ़ें: