रोहतास: ड्रग का सेवन करते दो नशेड़ी गिरफ्तार, नीडल व सिरिंज बरामद

Author : Sanjeev Kumar

drugs in Rohtas

रोहतास पत्रिका/बिक्रमगंज: जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र के भीड़भाड़ वाले इलाके तेंदुनी चौक के पास से पुलिस ने दो लोगों को ड्रग का सेवन करते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। उनके पास से प्रतिबंधित नशीली पदार्थ और इन्जेक्शन बरामद किया गया है। इस संबंध में रोहतास एसपी आशीष भारती ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि जिले में शराब के साथ पुलिस ड्रग सेवन के खिलाफ भी अभियान चला रही है।

इसी संबंद में मंगलवार को पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि बिक्रमगंज के तेंदुनी चौक के पास जुटे कुछ नशेड़ी ड्रग का सेवन कर रहे है। जिसके बाद बिक्रमगंज थाना की पुलिस ने छापेमारी कर तेंदुनी चौक के पास से धारुपुर निवासी अमित कुमार व अभिषेक कुमार को नशा का सेवन करते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों लोगों की पुलिस ने विधिवत तलाशी ली तो उनके पास से ड्रग, 0.6 एमजी का आठ ऐंप्‍यूल ब्यूप्रेनोर्फिन, नौ ऐंप्‍यूल फेनिरामाइन मैलेट, सात निडिल व एक सिरिंज बरामद किया गया है। दोनों गिरफ्तार अभियुक्तों ने मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है। पुलिस गिरफ्तार अभियुक्तों से कड़ाई से पूछताछ कर रही है ताकि ड्रग के धंधेबाजों का नेटवर्क का पता लगाया जा सके।

ताज़ा खबरें

अगली खबर

मोबाइल नहीं देने पर सीने में दाग दी गोली, युवक की हालत गंभीर

Author : Sanjeev Kumar

इन दिनों बिहार में मोबाइल चोरी, छिनतई अब आम बात हो गई है. हर जिलों से प्रतिदिन सैकड़ों इस तरह के केस आते हैं. क्राइम पर कोई रोक नहीं है.अपराधियों के भीतर कानून का भय खत्म होते जा रहा है. प्रदेश के भोजपुर जिले से ऐसी ही एक घटना सामने आई है. जहां एक युवक से जबरन मोबाइल छिनने की कोशिश की गई. जिले के कोईलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा मोड़ स्थित आलू कोल्ड स्टोर के समीप युवक से अपराधी मोबाइल छिन रहे थे. युवक ने जमकर विरोध किया. गिड़गिड़ाता रहा है, कहा कि हम गरीब है हमारे पास मोबाइल नहीं है लेकिन बदमाशों ने एक नहीं सुनी. मोबाइल नहीं देनेे पर युवक के ऊपर गोली चला दी. बदमाश एक अपाची बाइक से आए थे. लड़का पुरी तरह से घायल होकर उसी स्थान पर बेसुध हो गया. परिजनों को सूचना मिलते ही आनन-फानन में आरा शहर के बाबू बाजार स्थित निजी अस्पताल लाया गया. जहां पर युवक इलाज चल रहा है. डॉक्टर ने बताया कि गोली सीने में लगी है, ब्लड काफी बह चुका है. उसके सीने में टेस्ट ट्यूब लगाया जा रहा है. दो यूनिट ब्लड चढ़ाया जाएगा. डॉ.विकास सिंह ने आगे बताया कि स्थिति अभी नाजुक बनी है, युवक को कुछ दिनों तक ऑब्जर्वेशन में रखा जाएगा.

SP ने कहा कि बदमाशों को जल्द से जल्द पकड़ा जाएगा

घटना की सूचना मिलते ही SP सीधे अस्पताल पहुंच कर घायल से मिले. पुरी घटना की जानकारी लेते उन्होंने बताया कि घायल युवक कोइलवर थाना क्षेत्र के गीधा ओपी अंतर्गत सोनघट्टा गांव निवासी लाल मोहन पांडेय का पुत्र 19 वर्षीय अमन पांडे है. अमन दुध प्लांट में पैकिंग का काम करता है. हर रोज की तरह वो काम पर जा रहा था इसी दौरान घटना हो गई. अधीक्षक ने कहा कि हम इसे लुट-पाट की एंगल से ही जांच कर रहे हैं. उस जगह पर जो भी घटनाएं घटी है उसे लेकर जांच करेंगे ताकि अपराधियों को जल्द से जल्द से गिरफ्तार कर सकें. SP ने बताया कि हम लोगों से कोआर्डिनेशन बनाए ऱखे हुए जिससे लॉ एंड आर्डर बनी रहे. वही थाना इंचार्ज प्रवीण कुमार घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुट गए हैं.

 

अगली खबर

Aadhar Card नहीं दिखाने पर BJP नेता ने एक व्यक्ति की ली जान? सोशल साइट पर वीडियो वायरल

Author : Sanjeev Kumar

मध्य प्रदेश: सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें एक युवक से आधार कार्ड नहीं दिखाने पर बेरहमी से पीटा जा रहा है. ये वीडियो मध्यप्रदेश के नीमच जिले की बताई जा रही है हालांकि इस वीडियो की पुष्टि रोहतास पत्रिका नही कर रहा है. वायरल वीडियो में बीजेपी पार्षद के पति दिनेश कुशवाहा को कथित तौर पर जैन की पिटाई करते हुए देखा जा रहा है और उसे आधार कार्ड मांग रहे हैं. बीजेपी नेता युवक से पुछ रहे हैं कि क्या तुम मुस्लिम हो?

वायरल वीडियो पर पुलिस ने क्या कहा?

सोशल मीडिया पर वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में जिस व्यक्ति से आधार कार्ड मांगा जा रहा है. उसका नाम रतलाम के सरसी गांव निवासी 60 वर्षीय भंवरलाल जैन बताया जा रहा है. वहीं मानसा से भंवरलाल मृत स्थित में पाए गए. पुलिस ने शनिवार को सूचना दिया. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने शनिवार को IPC की धारा 304 (लापरवाही से मौत) और 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की. मनासा थाना प्रभारी केएल डांगी ने बताया कि भंवरलाल जैन 18 मई को अपने परिवार के साथ चित्तौड़गढ़ गया था. उसके बाद में वह लापता हो गया. शुक्रवार को नीमच जिले के मनासा में उनका शव मिला. उन्होंने आगे कहा कि हम वीडियो की जांच कर रहे हैं. मामले में आरोपी के साथ वीडियो बनाने वाले के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. इस मामले के बाद दिनेश कुशवाहा फरार हो गए हैं.

स्थानीय नेताओं ने बोला हमला

Congress के नेताओं ने BJP सरकार पर कई सवाल खड़े किए हैं. विधायक जीतू पटवारी ने कहा, ‘राज्य में कानून-व्यवस्था नहीं है और सिर्फ आधार कार्ड नहीं दिखाने पर एक व्यक्ति को पीट-पीट कर मार डाला गया. मुस्लिम, दलित और आदिवासी के बाद जैन पर हमले हुए. प्रदेश में कोई सुरक्षित नहीं है. इस मामले को लेकर गृह मंत्री अमित शाह जी को कुछ कहना चाहिए. वही BJP के प्रवक्ता हितेश वाजपेयी ने कहा, ‘यह बेहद दुखद घटना है, मामले की निष्पक्ष जांच होगी.

अगली खबर

दो बच्चे के पिता ने 7 साल की बच्ची के साथ किया रेप, बच्ची की हालत नाजुक

Author : Sanjeev Kumar

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले से शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है जहां पर एक युवक ने 7 साल की बच्ची के साथ रेप किया है. युवक का नाम विकास कुमार है जो कि मिठनपुरा का रहने वाला है. आरोपी की गिरफ्तारी हो गई है. आरोप स्वीकार्य करते हुए कहा कि मैं नशे के हालत में था इसलिए ये घटना हो गया. मैं होश में नहीं था, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था. महिला थाना की पुलिसकर्मी स्नेही ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी उसके घर से हो गई है. आरोपी दो बच्चे का पिता है. उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. उसे जेल भेजा जा रहा है.

तीन दिन पूर्व की घटना

आरोपी तीन दिन पहले एक शादी समारोह में गया था. जिस बच्ची के साथ रेप हुआ है उसके मौसा के साथ शादी में शामिल हुआ. शादी के दौरान युवक ने बच्ची को कोल्ड ड्रिंक पिलाने का झांसा देकर उसे बाइक पर बैठाकर घर के बाहर सुनसान झाड़ियों में ले गया और बच्ची के साथ रेप किया. बच्ची ने चिल्लाने की कोशिश की तो उसकी आवाज दबाकर उसके साथ जबरन रेप करते रहा. उसके बाद बच्ची को वही छोड़कर भाग गया. पीड़ित बेहोशी की हालात में पाई गई जहां पर दरिंदा ने रेप किया था. बच्ची अस्पताल में भर्ती है परिजनों ने बताया कि प्राइवेट पार्ट में काफी ब्लीडिंग हो गई है. आनन-फानन में पहले PHC में प्राथमिक इलाज करवाया गया है उसके बाद डॉक्टर ने SKMCH रेफर कर दिया. फिलहाल बच्ची SKMCH में भर्ती है. जहां पर उसका इलाज चल रहा है, स्थित काफी नाजुक बताई जा रही है. वहीं स्थानीय लोगों इसे लेकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की है. लोगों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि क्षेत्र में क्राइम की घटना में काफी वृद्धि हो गई है. प्रशासन घटना होने का इंतजार करती है.

अगली खबर

रोहतास: अगरेर खुर्द दलित हत्याकांड के मुख्य आरोपी गिरफ्तार, 21 दिन बाद पुलिस को मिली सफलता

Author : Sanjeev Kumar

Agar Khurd Dalit Murder Case

रोहतास पत्रिका/सूर्यपुरा: सूर्यपुरा थाना अंतर्गत अगरेर खुर्द गांव में 20 मार्च को आपसी विवाद में एक युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद मामले के आरोपी फरार चल रहे थे। अब हत्याकाण्ड के 21 दिन बाद सोमवार को पुलिस को मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। मिली जानकारी के अनुसार अभियुक्त ब्रिज भूषण पांडे को पुलिस ने बिक्रमगंज थाना क्षेत्र से जांच के लिए गठित एसआईटी ने गिरफ्तार किया है।

घटना में प्रयुक्त हथियार अभी भी पुलिस के पहुँच से बाहर, नहीं हुआ आर्म्स लाइसेंस रद्द

घटना के बाद मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने बताया था कि दलितों पर गोलीबारी करने में प्रयुक्त हथियार लाइसेंसी है या अवैध इसकी जांच की जा रही है। जांच में पता चला कि जिस हथियार से गोलीबारी हुई थी वह हथियार लाइसेंसी और उसकी लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा की गई है। जब इस संबंध में बिक्रमगंज एसडीपीओ से बात किया गया तो पता चला की हथियार का लाइसेंस घटना के 21 दिन बीत जाने के बाद भी रद्द नहीं किया है।

मृतक की पत्नी ने कराई थी प्राथमिकी दर्ज

मृतक राजदेव पासवान की पत्नी इंदु देवी ने स्थानीय सूर्यपुरा थाना में गांव के ही 8 दबंगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी। सूर्यपुरा थानाध्यक्ष सुसंत कुमार ने धारा 147/148/149/341/323/447/307/302/504, 27 आर्म्स एक्ट एवं एससी/एसटी एक्ट के तहत कांड संख्या 32/22 दर्ज किया था। इस कांड में कुल 8 लोगों को नामजद किया गया था जिसमें अगरेर खुर्द निवासी भैया राम पांडे के पुत्र बृज भूषण पांडे, चंद्र भूषण पांडे एवं राज भूषण पांडे, स्व जय गोविंद पांडे के पुत्र भैया राम पांडे, बृज भूषण पांडे का पुत्र विकास पांडे, श्रीकांत दुबे का पुत्र सौरभ दुबे उर्फ किस्तु दुबे, रंगनाथ पांडे का पुत्र अभय पांडे एवं कमलेश पांडे का पुत्र संजीव पांडे शामिल है।

दिन-दहाड़े दो लोगों को मारी गई थी गोली, एक की हुई थी मौत

सूर्यपुरा थाना क्षेत्र के अगरेर खुर्द गांव में उक्त विवाद में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। एक अन्य व्यक्ति को भी गोली लगी थी, लेकिन उसकी जान बच गई थी। ग्रामीण बताते है कि आपसी विवाद में झगड़ा बढ़ गया और कुछ लोगों द्वारा दिनदहाड़े फायरिंग की जाने लगी थी। जिसमें राजदेव पासवान एवं संतोष पासवान को गोली लग गई। राजदेव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि संतोष को बिक्रमगंज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

3 दिनों से जारी तनाव ने लिया खूनी रूप

स्थानीय लोग बताते है कि 17 मार्च को अगरेर खुर्द गांव में नाली के ऊपर रखा पत्थर का स्लैब नाली में गिर गया था। उस स्लैब को निकाल कर हटाने को लेकर विवाद हो गया। तब गांव के दबंगों ने नींबू राम की पिटाई कर दी। उसी विवाद में 20 मार्च को भी दोनों पक्षों में नोंक-झोक हुआ। इसके बाद गांव के ही दबंगों के पक्ष से ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी जिसमें राजदेव पासवान और संतोष पासवान को गोली लग गई थी।

अगली खबर

जातिगत जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक, तेजस्वी ने कही बड़ी बात

Author : Sanjeev Kumar

पटना: जातिगत जनगणना को लेकर सभी पार्टियों की सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. ये बैठक पटना में आयोजित हुआ था. जहां RJD का प्रतिनिधित्व तेजस्वी यादव कर रहे थे. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिल को अगली कैबिनेट बैठक में लाने और नवंबर के महीने में इसे शुरू करनी चाहिए. उनका आगे कहना था कि छठ पुजा में बिहार से बाहर रहने वाले कई लोग घर आते हैं इस समय आकड़े सही प्राप्त होंगे, और पर्याप्त समय भी तैयारी करने के लिए मिल जाएगा. पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि जातीय जनगणना है ना कि जनगणना, ये हमारी जीत है. बैठक के दौरान तेजस्वी ने बताया कि इसमें मानव शास्त्रियों को शामिल करने के लिए अपना सुझाव दिया है. इसे लेकर केन्द्र सरकार को आगे आना चाहिए और आर्थिक रुप से समर्थन करना चाहिए. ये फैसला बिहार के रहने वाले लोगों के हित में है.

नीतीश कुमार ने कही ये बात

बिहार प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार ने बैठक को लेकर अपनी खुशी जताई. उन्होंने कहा कि सरकार राष्ट्रीय स्तर पर जाति जनगणना कराने के लिए केंद्र की अनिच्छा के बाद राज्य में “सभी जातियों और समुदायों का सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण” करेगी. वही सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद, कुमार ने कहा कि विशाल अभ्यास के लिए आवश्यक कैबिनेट मंजूरी जल्द ही दी जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि ये खुशी के बात है कि सभी दलों के लोगों ने इस बैठक को लेकर सर्वसम्मति से समर्थन किया है.

बीजेपी से कौन-कौन शामिल

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और राज्य इकाई के प्रमुख संजय जायसवाल ने बैठक में भाग लिया. बीजेपी अपने केन्द्र के फैसले पर अडिग रही. इस बैठक को लेकर बीजेपी के नेताओं ने कैमरे से बचने की कोशिश की. जातीय जनगणना को लेकर बीजेपी के कई नेता इसके हक में नहीं है लेकिन उनके भी अपनी मजबूरी है. आपको बता दें कि केन्द्र सरकार ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि अगर राज्य सरकार जातीय जनगणना कराना चाहती है तो राज्य सरकार स्वतंत्र है. केन्द्र सरकार के तरफ से कोई भी आर्थिक मदद नहीं मिल पाएगी.

अगली खबर

जाति आधारित जनगणना का विरोध BJP करेगा तो टूट जाएगा NDA का गठबंधन : BJP थिंक टैंक

Author : Sanjeev Kumar

रोहतास पत्रिका/पटना: बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सभी पार्टियों की सहमति बन गई है. इस बात की जानकारी शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने दी. शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री ने पहले ही बता दिया है कि जाति आधारित जनगणना पर जल्द ही पटना में एक बैठक होगी. मंत्री ने स्पष्ट करते हुए बताया कि बिहार सरकार ने एक जून (बुधवार) को पटना में जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक करने का फैसला किया है. इस तारीख पर सभी दलों ने अपनी सहमति जताई है. आगे चौधरी ने कहा कि बैठक का स्थान 4 देश रत्न मार्ग, पटना में शाम करीब 4 बजे आयोजित होगा. वही बैठक में सभी पार्टियों के शीर्ष नेताओं का आगमन तय माना जा रहा है.

सभी पार्टियों की सहमति

27 मई को हुई बैठक को लेकर नीतीश कुमार ने सकारात्मक संकेत दिए थे. बिहार में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को छोड़कर RJD, JDU, कांग्रेस, वाम दल, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (एचएएम) और अखिल भारतीय मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) सहित सभी दलों ने जाति-आधारित जनगणना पर सहमति व्यक्त की. भाजपा अपने केंद्रीय नेतृत्व के रुख पर अड़ी हुई थी, जिसने देश में जाति आधारित जनगणना नहीं करने का फैसला किया था हालांकि अब बीजेपी की रूख में हल्की नरमी देखी जा रही है.

BJP की असहमति से टूट जाएगी गठबंधन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जाति आधारित जनगणना कराने के अपने फैसले पर अडिग हैं. BJP थिंक टैंक का मानना ​​है कि अगर वे बिहार में जाति आधारित जनगणना का विरोध करेंगे तो सीएम नीतीश कुमार बीजेपी से गठबंधन तोड़ सकते हैं और राजद की मदद से बिहार में सरकार बना सकते हैं. नीतीश कुमार और तेजस्वी की बढ़ती नजदीकियों से BJP परेशान दिख रही है. भाजपा को डर सता रहा कि गठबंधन ना टूटे, इसी को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने अपनी सहमति जताई है. आपको बता दें, प्रधानमंत्री ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि राज्य अपने खर्च पर जाति आधारित जनगणना करने के लिए स्वतंत्र हैं.

अगली खबर

“नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच बढ़ी नज़दीकियां तो CBI ने लालू यादव के आवास पर मार दी रेड” – RJD विधायक मुकेश रौशन

Author : Sanjeev Kumar

बिहार के पूर्व मुखिया लालू प्रसाद के घर तड़के सुबह CBI की टीम ने रेड मारी है. पटना और दिल्ली समेत 17 ठिकानों पर छापेमारी जारी है. टीम ने बताया कि रेलवे भर्ती बोर्ड में हुई गड़बड़ी को लेकर कार्रवाई हुई है. पटना, दिल्ली और गोपालगंज समेत कई जगहों पर रेड जारी है. घर के सदस्यों को अलग-अलग कमरे में बैठाकर पूछताछ की जा रही है. वहीं दिल्ली में मिसा भारती के घर पर CBI के बड़े अधिकारी पहुंचे है.

तेज प्रताप यादव को बैठाया पेड़ के नीचे

CBI की टीम पहुंचते ही RJD के कार्यकर्ताओं ने घर के बाहर प्रदर्शन करना शुरु कर दिया है. धरने पर बैठे कई RJD के नेताओं ने कहा कि ये बदले की राजनीति है. सरकार हमारे नेता लालू यादव जी को परेशान करने में लगी है लेकिन हम चुप बैठने वाले नहीं है. वहीं टीम ने तेज प्रताप को पेड़ के नीचे बैठा दिया था. इसके बाद तेज प्रताप ने बिना कुछ कहे चुपचाप पेड़ के नीचे बैठे रहें. 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर CBI की 8 सदस्यीय अफसरों में महिला कर्मचारी भी छानबीन के लिए पहुंची है. आवास में किसी को अंदर बाहर जाने पर रोक लगा दिया गया है. टीम सभी दस्तावेजों को खंगाल रही है. वहीं राबड़ी देवी से पूछताछ करने की खबरें आ रही हैं.

पुरा मामला क्या है?

आपको बता दे कि 2004 से 2009 के बीच लालू प्रसाद यादव रेलमंत्री थे इसी बीच रेलमंत्री ने नौकरी देने के बदले जमीन और कई प्लॉट लिए. इसी आरोप को लेकर एक नया केस दर्ज हुआ है, जिसे लेकर CBI की टीम जांच में लगी है. ये केस लालू यादव और उनकी बेटी मिसा भारती पर हुई है. इधर, RJD के विधायक मुकेश रौशन ने कहा कि RJD और JDU के नजदीकियों से BJP परेशान हो गई है इसलिए छापेमारी करवा रही हैं. इस समय लालू यादव की तबीयत खराब है, उनका इलाज अस्पताल में चल रहा है और तेजस्वी यादव भी शहर से बाहर है.ऐसे समय में रेड मारना उचित नहीं है.

अगली खबर

विशेष: राजनीति के ‘चौधरी’ कहे जाने वाले नेता की जयंती से जुड़ा है ‘किसान दिवस’ का इतिहास, जानिए सबकुछ

Author : Sanjeev Kumar

Chaudhary charan singh

रोहतास पत्रिका/नई दिल्ली:

हर साल 23 दिसंबर को देश में ‘राष्ट्रीय किसान दिवस’ मनाया जाता है, लेकिन इस बार ये किसान आंदोलन की वजह से मुख्य केंद्र बिंदु बना हुआ है। बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों को लेकर पूरे देश में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। एक कृषि प्रधान देश होने के नाते भारत की बहुसंख्यक आबादी खेती से जुड़ी है। चलिए इस बहुसंख्यक आबादी से जुड़े ‘किसान दिवस’ के इतिहास पर नजर डालते हैं और आज के परिपेक्ष्य में समझने की कोशिश करते हैं।

किसान दिवस मनाए जाने का प्रमुख कारण देश में किसानों की प्राथमिकता को महत्व देना एवं उनके हित में चलाई गई योजनाओं के बारे में किसानों को परिचित कराना है। किसान दिवस पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन पर मनाया जाता है। 23 दिसंबर 1902 को जन्मे चौधरी चरण ने किसानों के हित में अनेक कदम उठाए थे। बता दें इनका कार्यकाल भारत के पांचवे पीएम के रूप में जुलाई 1979 से जनवरी 1980 तक रहा था। इनके प्रधानमंत्री रहते ही नई दिल्ली में 23 दिसंबर 1978 को ‘किसान ट्रस्ट’ की स्थापना हुई थी।

ऐसे बने थे राजनीति के ‘चौधरी’

चौधरी चरण सिंह पहली बार 1937 में विधायक चुने गए थे। जिन्हें 1977 तक छपरौली-बागपत से विधायक बने रहने का मौका मिला। 1967 में कांग्रेस छोड़कर चौधरी चरण ने अपनी नई पार्टी बना ली थी। ‘भारतीय क्रांति दल’ के नाम से बनी इस पार्टी को उस समय के नेता राममनोहर लोहिया का साथ मिला। किसानों से उनका लगाव और बदलते राजनीतिक समीकरण के वजह से उन्हें पहली बार यूपी में गैर कांग्रेसी पार्टी की सरकार का अगुवाई करने का मौका मिला, और वो यूपी के मुख्यमंत्री बन गए। 1967 से 1970 तक सीएम के पद पर उन्होंने कार्य किया। उन्होंने ही अपने कार्यकाल के दौरान जमींदारी प्रथा को खत्म कर किसानों को बड़ी राहत पहुँचाई थी। खाद पर से सेल्स टैक्स भी हटा लिया था।

राजनीतिक व्यक्तित्व के जयंती पर मनाए जा रहे किसान दिवस में आज देश का किसान खुद राजनीति के दिग्गजों के बुने जाल में फंसता जा रहा है। देश के बहुसंख्यक आबादी का एक वर्ग इन ठंडी हवाओं को बर्दाश्त कर दिल्ली से सटे बॉर्डर पर अपनी मांग को लेकर अड़ा हुआ है और सरकार इसके फायदे गिना रही है।

अगली खबर

रोहतास: आयुष्मान कार्ड बनाने में सासाराम प्रखण्ड अव्वल

Author : Sanjeev Kumar

Ayushman Bharat
  • डिहरी तथा दिनारा प्रखण्ड क्रमशः दूसरे एवं तीसरे स्थान पर
  • जिले में अबतक 3.59 लाख से अधिक लोगों का बनाया जा चुका है आयुष्मान कार्ड

रोहतास पत्रिका/सासाराम: प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत बनने वाला आयुष्मान कार्ड लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। खासकर वैसे लोग जो गरीबी रेखा के नीचे रह रहे हैं, उनके लिए यह कार्ड संजीवनी साबित हो रही। आयुष्मान कार्ड के लाभार्थी पांच लाख तक का निःशुल्क इलाज का लाभ अपने जिले के अस्पतालों के साथ-साथ राज्य तथा राज्य के बाहर के अस्पतालों में पा रहे हैं।

आयुष्मान योजना कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले में कुल 13 लाख 25 हज़ार 959 लोगों का आयुष्मान कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके विरुद्ध अभी तक 3 लाख 59 हज़ार 105 लोगों का कार्ड बनाया जा चुका है ।

आयुष्मान कार्ड लाभार्थियों में सासाराम प्रखण्ड अव्वल

सासाराम सदर अस्पताल स्थित आयुष्मान योजना कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार आसमान योजना कार्ड पाने वालों में सासाराम प्रखंड अव्वल नंबर पर है। सासाराम प्रखण्ड में अब तक 45854 लोगों का कार्ड बनाया जा चुका है। दूसरे नंबर पर डिहरी प्रखंड है, जहां 35769 लोगों का कार्ड बनाया जा चुका, जबकि तीसरे नंबर पर दिनारा प्रखंड है जहां पर 22536 लोग का कार्ड बनाया गया है। चौथे नंबर पर नासरीगंज है जहां 22237 लोगों को कार्ड बनाया जा चुका है।

वहीं करगहर में 22031 शिवसागर में 21411, बिक्रमगंज में 19875, काराकाट में 18670, नोखा में 17809, चेनारी में 16607, तिलौथू में 16227, अकोढ़ीगोला में 15959, नौहट्टा में 14529, कोचस में 14399, रोहतास में 12854, दावथ में 12848, राजपुर में 9256, सूर्यपुरा में 8128 तथा संझौली में 5510 लोगों का आयुष्मान कार्ड बनाया जा चुका है।

कैम्प के माध्यम से बनाया जा रहा है कार्ड

आयुष्मान योजना के जिला कॉर्डिनेटर महावीर कुमार ने बताया कि जिले के विभिन्न प्रखंडों के पंचायतों एवं गांव के साथ साथ साथ शहरी क्षेत्रों में वार्ड स्तर से कैम्प के माध्यम से लगातार आयुष्मान कार्ड बनाए जा रहे हैं, ताकि जल्द से जल्द लक्षित लोगों का कार्ड बनाया जा सके।

उन्होंने बताया कि लक्षित लाभार्थी के आधार कार्ड एवं राशन कार्ड में नाम में थोड़ी त्रुटि होने की वजह से समस्या आ रही है। परंतु जिनका जिनका आधार कार्ड एवं राशन कार्ड में नाम सही है उनका आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रक्रिया जारी है। उन्होंने बताया कि 2 जुलाई को रोहतास जिलाधिकारी का नासरीगंज प्रखण्ड में दौरा है। इस दौरान नासरीगंज में कैम्प लगाकर ऑन स्पॉट आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा।

अगली खबर

रोहतास: जिले में नगर वन योजना के तहत शहीद संजय सिंह पार्क का होगा निर्माण

Author : Sanjeev Kumar

Park in Sasaram
  • चंदतन शहीद के समीप दो हेक्टेयर में होगा आधुनिक पार्क का निर्माण
  • चिल्ड्रेम पार्क के साथ-साथ मनोरंज के कई सुविधाओं से होगा सुसज्जित

रोहतास पत्रिका/सासाराम: 75 वीं आजादी के अमृत महोत्सव के तहत विकास को लेकर कई योजनाएं चलाई जा रही है और यह योजनाएं जमीनी स्तर पर दिखाई दे रही है। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत नगर वन योजना चलाया जा रहा है। इसके तहत देश के 75 जिलों का चयन किया गया है जिसमे रोहतास जिला भी शामिल है।

इसके तहत जिले में सासाराम एवं डिहरी में पार्क का निर्माण किया जाएगा और उक्त पार्क में लोगों के लिए कई सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएगी। नगर वन योजना के तहत सासाराम नगर निगम क्षेत्र स्थित चंदतन शहीद पहाड़ के समीम दो हेक्टेयर में शहीद संजय सिंह पार्क का निर्माण किया जाएगा। उक्त पार्क में लोगों को टहलने के लिए फूट पाथ के अलावा ड्रिंकिंग वाटर, शौचालय, बैठने का इंतजाम के साथ साथ आकर्षक लाइटिंग की भी व्यवस्था की जाएगी।

बच्चों के लिए होगा मनोरंजन का साधन

वही नगर वन योजना के तहत बनने वाले शहीद संजय सिंह पार्क में बच्चों के मनोरंजन के लिए विभिन्न उपकार भी लगाए जाएंगे जिसमे झूला का साथ साथ चिल्ड्रेम पार्क भी शामिल होगा। इसके अलावा उक्त पार्क में लोगों को बैठने के लिए कृत्रिम ट्री बनाकर उनके नीचे बैठने का इंतज़ाम किया जाएगा।

DFO Sasaram
रोहतास डीएफओ मनीष वर्मा

दूसरे फेज में होगा तालाब का निर्माण: डीएफओ

रोहतास डीएफओ मनीष वर्मा ने कहा कि प्रथम चरण के दौरान सासाराम में शहीद संजय सिंह पार्क का निर्माण चंदतन शहीद पहाड़ के नजदीक कराया जाएगा। उन्होंने बताया की ये सभी कार्य प्रथम चरण में किये जायेंगे। वही दूसरे चरण में पार्क के शामिल मौजूद कुंड को और विकसित कर उसको तालाब का रूप देकर सौन्दरीकरण किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पहाड़ से गिरने वाले झरने को उक्त कुंड के तरफ मोड जाएगा। डीएफओ ने बताया कि उक्त तालाब में फाउंटेन लगाया जाएगा और आधुनिक लाइट लगाया जाएगा ताकि शहर के लोग शाम में भी पार्क का आनंद उठा सके। डीएफओ ने बताया कि सासाराम के अलावा इसी योजना के तहत डिहरी के एनीकट में बने पार्क को और सौन्दरीकरण किया जाएगा।

अगली खबर

जिले में Corona संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

Author : Ravi Prashant Tiwari

covid cases in rohtas

सासाराम: रोहतास जिले में भी जून महीने के शुरुआत से संक्रमण के मामले देखे जा रहे हैं। पिछले 1 हफ्ते के भीतर जिले में संक्रमण के मामलों में काफी तेजी देखी जा रही है। जिला स्वास्थ समिति से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 7 दिनों के भीतर जिले में कुल 26 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें 28 जून को सर्वाधिक 11 नए मामले सामने आए थे। हालांकि इन 7 दिनों के भीतर 9 संक्रमित मरीज ठीक भी हो चुके हैं। वर्तमान में जिले में कोविड एक्टिव मरीजों की संख्या 20 है। जिनमें 19 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है, जबकि एक संक्रमित मरीज को सासाराम सदर अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में रखा गया है। वहीं रोहतास जिले में संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला स्वास्थ्य समिति में भी चिंता देखी जा रही है। हालांकि कोरोना संक्रमण की संभावित चौथी लहर को देखते हुए पहले से ही राज्य स्वास्थ्य समिति ने सभी जिला स्वास्थ्य समितियों को अलर्ट रहने के साथ-साथ कोविड आपातकालीन सेवाओं को दुरुस्त रखने के लिए भी दिशा निर्देश दे दिया था। इसके आलोक में जिला स्वास्थ्य समिति लगातार नजर बनाए हुए है और सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने में भी लगी हुईहै। खासकर तीसरी लहर के दौरान जो भी कमी रही उसे भी इस बार दुरुस्त करने को लेकर जिला स्वास्थ्य समिति लगातार प्रयासरत है।

पिछले एक हफ्ते के भीतर 26238 लोगों की हुई जांच

बिहार में बढ़ते संक्रमण के मामले को देख पहले से ही जांच अभियान को तेज करने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। जिले में प्रतिदिन 4 हजार के आसपास लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। जिला स्वास्थ्य समिति से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 7 दिनों के भीतर जिले में कुल 26238 लोगों की कोरोना जांच की गयी और इस दौरान 26 व्यक्तियों में संक्रमण पाया गया। पिछले सात दिनों की बात करें तो 24 जून को 01, 25 जून को 00, 26 जून को 05, 27 जून को 02, 28 जून को 11, 29 जून को 02 एव 30 जून को 05 संक्रमित मरीज पाए गए।

संक्रमण को देखते हुए टीकाकरण अभियान में तेजी

इधर कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा कोरोना जांच के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण अभियान में भी तेजी लाई गई है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ आर के पी साहू ने बताया कि जिले में जारी हर घर दस्तक अभियान के तहत कोरोना टीका से वंचित लोगों को लगातार टीकाकृत किया जा रहा है। खासकर वैसे लाभार्थी जो दूसरे डोज के साथ-साथ बूस्टर डोज से वंचित हैं । उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव में टीकाकरण अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। इसलिए जिले के जितने भी लोग टीका से वंचित हैं उन्हें जल्द से जल्द टीकाकृत करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि जिनका दूसरे एवं बूस्टर डोज का समय पूरा हो गया है वे लोग टीका जरूर लगा लें । क्योंकि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी के साथ साथ टीकाकरण भी अतिआवश्यक है।

अगली खबर

सॉफ्ट टेनिस खेल को कैमूर जिले में किया जाएगा विकसित: सन्तोष कुमार

Author : Sanjeev Kumar

Soft Tennis at Kaimur

रोहतास पत्रिका/कुदरा: बिहार में उभरते गेम सॉफ्ट टेनिस को कैमूर जिले में बढ़ावा देने को लेकर पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी लालापुर केंद्र के प्रांगण में विद्यालय के निदेशक संतोष कुमार के मार्गदर्शन में बुधवार को खेल को बढ़ावा देने को लेकर चर्चा किया गया। पटना से आए बिहार सॉफ्ट टेनिस एसोसिएशन के महासचिव धर्मवीर कुमार ने सॉफ्ट टेनिस खेल के बारे में विस्तार से बताया।

उन्होंने बताया कि यह गेम सीबीएसइ से लेकर यूनिवर्सिटी गेम एव एशियन जेम में शामिल हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि बिहार की टीम किस तरह से अन्य राज्यों के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन कर रही है। इसके अलावा पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी लालापुर में खेल की शुरुआत को लेकर भी चर्चा किया गया। वही कैमूर जिले में सॉफ्ट टेनिस खेल को बढ़ावा देने के लिए पैराडाइज चिल्ड्रन एकेडमी के निदेशक संतोष कुमार ने विद्यालय के प्राचार्य सत्यम कुमार को जिम्मेवारी सौंपी ताकि कैमूर जिले में भी इस खेल का विकास हो और इस जिले के बच्चे भी बिहार राज्य के साथ-साथ राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी ख्याति हासिल कर जिले का नाम रौशन कर सकें।

निदेशक संतोष कुमार ने कहा कि सॉफ्ट टेनिस को कैमूर जिले में बढ़ावा देने के लिए जो भी बेहतर होगा उसे किया जाएगा और सॉफ्ट टेनिस को पूर्ण रूप से कैमूर जिले में विकसित किया जाएगा ताकि यहां के बच्चे भी इस खेल में नाम रोशन कर सकें। इस अवसर पर सॉफ्ट टेनिस एसोसिएशन ऑफ रोहतास के सचिव रमेश मेहता, संघ के सदस्य संजीव कुमार के अलावा अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी सत्यम उर्फ विशाल कुमार भी मौजूद रहे।

अगली खबर

रोहतास: जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए स्वास्थ विभाग अलर्ट

Author : Sanjeev Kumar

covid cases in rohtas
  • पिछले सात दिनों के भीतर मिले 26 संक्रमित मरीज, 26238 लोगों की हुई जॉच

रोहतास पत्रिका/सासाराम: रोहतास जिले में भी जून महीने के शुरुआत से संक्रमण के मामले देखे जा रहे हैं। पिछले 1 हफ्ते के भीतर जिले में संक्रमण के मामलों में काफी तेजी देखी जा रही है। जिला स्वास्थ समिति से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 7 दिनों के भीतर जिले में कुल 26 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें 28 जून को सर्वाधिक 11 नए मामले सामने आए थे। हालांकि इन 7 दिनों के भीतर 9 संक्रमित मरीज ठीक भी हो चुके हैं।

वर्तमान में जिले में कोविड एक्टिव मरीजों की संख्या 20 है। जिनमें 19 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है, जबकि एक संक्रमित मरीज को सासाराम सदर अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में रखा गया है। वहीं रोहतास जिले में संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला स्वास्थ्य समिति में भी चिंता देखी जा रही है। हालांकि कोरोना संक्रमण की संभावित चौथी लहर को देखते हुए पहले से ही राज्य स्वास्थ्य समिति अलर्ट मोड पर है।

सभी जिला स्वास्थ्य समितियों को अलर्ट रहने के साथ-साथ कोविड आपातकालीन सेवाओं को दुरुस्त रखने के लिए भी दिशा निर्देश दे दिया था। इसके आलोक में जिला स्वास्थ्य समिति लगातार नजर बनाए हुए है और सभी आवश्यक व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने में भी लगी हुईहै। खासकर तीसरी लहर के दौरान जो भी कमी रही उसे भी इस बार दुरुस्त करने को लेकर जिला स्वास्थ्य समिति लगातार प्रयासरत है।

पिछले एक हफ्ते के भीतर 26238 लोगों की हुई जांच

बिहार में बढ़ते संक्रमण के मामले को देख पहले से ही जांच अभियान को तेज करने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं। जिले में प्रतिदिन 4 हजार के आसपास लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। जिला स्वास्थ्य समिति से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 7 दिनों के भीतर जिले में कुल 26238 लोगों की कोरोना जांच की गयी और इस दौरान 26 व्यक्तियों में संक्रमण पाया गया। पिछले सात दिनों की बात करें तो 24 जून को 01, 25 जून को 00, 26 जून को 05, 27 जून को 02, 28 जून को 11, 29 जून को 02 एव 30 जून को 05 संक्रमित मरीज पाए गए।

संक्रमण को देखते हुए टीकाकरण अभियान में तेजी

इधर कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा कोरोना जांच के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण अभियान में भी तेजी लाई गई है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ आर के पी साहू ने बताया कि जिले में जारी हर घर दस्तक अभियान के तहत कोरोना टीका से वंचित लोगों को लगातार टीकाकृत किया जा रहा है। खासकर वैसे लाभार्थी जो दूसरे डोज के साथ-साथ बूस्टर डोज से वंचित हैं।

उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव में टीकाकरण अपनी अहम भूमिका निभा रहा है। इसलिए जिले के जितने भी लोग टीका से वंचित हैं उन्हें जल्द से जल्द टीकाकृत करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि जिनका दूसरे एवं बूस्टर डोज का समय पूरा हो गया है वे लोग टीका जरूर लगा लें। क्योंकि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी के साथ साथ टीकाकरण भी अतिआवश्यक है।