Vaccination in Rohtas
- डॉ. सुधीर कुमार, सिविल सर्जन, रोहतास

• सिविल सर्जन ने महिलाओं को टीकाकरण कराने के लिए किया अपील

Rohtas Patrika/Sasaram:

रोहतास जिले में जारी पूर्णा संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण के दौरान महिलाओं के कम भागीदारी को देखते हुए जिला स्वास्थ विभाग ने चिंता व्यक्त किया है। टीकाकरण में महिलाओं की अधिक से अधिक सहभागिता को बनाने के लिए जिला स्वास्थ समिति प्रखंड स्तर पर महिलाओं को अधिक से अधिक जागरूक करने के लिए कदम उठाने की तैयारी में है। रोहतास जिले में अभी तक 5.30 लाख से अधिक लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है जिसमें 2 लाख 86 हाज़र 500 पुरुष लाभार्थी शामिल है तो वही महिला लाभार्थियों की संख्या 2 लाख 16 हज़ार के आसपास है।

टीकाकरण में अधिक से अधिक महिलाओं की सहभागिता को लेकर सिविल सर्जन डॉ सुधीर कुमार ने कहा कि जिले में सभी टिकट कटा केंद्रों पर लोगों की भीड़ देखी जा रही है इससे यह प्रतीत होता है कि टीका को लेकर लोगों में अब काफी जागरूकता आ गई है उन्होंने कहा कि लोग अब स्वयं टीका को लेकर केंद्रों तक पहुंच रहे हैं उन्होंने कहा कि कहीं-कहीं महिलाओं की सहभागिता थोड़ी कम देखी जा रही खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं की सहभागिता कम देखी जा रही है।

महिलाओं को किया जाएगा जागरूक

सिविल सर्जन डॉ सुधीर कुमार ने बताया कि महिलाओं का शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर उन्हें जागरुक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि टीकाकरण केंद्रों पर भीड़ को देखते हुए महिलाएं नहीं पहुंच पा रही हैं इसके लिए कुछ खास इंतजाम किया जाएगा और कोशिश किया जाएगा कि अधिक से अधिक महिलाओं का भी टीकाकरण किया जा सके।

उन्होंने बताया कि यदि जरूरत पड़ी तो महिलाओं को जागरूक करने के लिए प्रखंड स्तर पर अभियान चलाया जाएगा और उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित किया जाएगा। सिविल सर्जन ने बताया कि टीकाकरण को लेकर जो भी जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं उसमें महिलाओं को भी जागरूक किया जा रहा है। साथ ही साथ घर के मुखिया को भी जागरूक कर महिलाओं को टिकट आने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

दूसरे डोज के लिए किया अपील

जिले में प्रथम डोज का टीकाकरण करा चुके लोगों से भी सिविल सर्जन ने अपील किया है कि दूसरे डोज का समय पूरा होने पर टीकाकरण जरूर करवाएं क्योंकि कोविड का दूसरा डोज लेना अति आवश्यक है। यदि कोविड का दूसरी डोज नहीं लेते हैं तो पहले डोज का कोई महत्त्व नहीं रह जाएगा।

उन्होंने कहा कि टीका तभी कारगर होगा जब दूसरा डोज लिया। जाए साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि टीकाकरण करवाने के बाद भी लोग कोविड अनुरूप व्यवहार करना न छोड़ें। उन्होंने कहा कि बेशक संक्रमण दर में कमी आई है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। ऐसे में टीकाकरण के साथ-साथ मास्क का इस्तेमाल और सोशल डिस्टेंस अति आवश्यक है।